Latest UPTET – 72825 Job Opening – Online process for recruitment UPTET, Goverment and Private Job

Uptet Latest News Update:

तीन माह में होगी 73 हजार शिक्षकों की भर्ती 

यूपी में 72825 सहायक शिक्षकों की भर्ती टीईटी मेरिट के आधार पर ही होगी। सुप्रीम कोर्ट ने इस संबंध में मंगलवार को यूपी सरकार को इलाहाबाद हाईकोर्ट के निर्देश के मुताबिक नियुक्ति देने का आदेश जारी किया। हालांकि सर्वोच्च अदालत ने नियुक्ति प्रक्रिया को 31 मार्च तक पूरा करने के हाईकोर्ट के आदेश मे बदलाव कर इसके लिए 12 हफ्ते का समय दिया है। जस्टिस एचएल दत्तू व जस्टिस एसए बोबड़े की पीठ ने यह स्पष्ट किया कि नियुक्तियों का भविष्य इस मुद्दे पर सर्वोच्च अदालत की ओर से जारी किया गया अंतिम आदेश तय करेगा। अदालत इस मसले से संबंधित राज्य सरकार समेत अन्य याचिकाओं और टीईटी की अनिवार्यता पर 29 अप्रैल को अगली सुनवाई करेगी। अदालत में यूपी सरकार की ओर से अधिवक्ता शमशाद आलम ने पक्ष रखा। गौरतलब है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 31 मई 2013 के अनिरस्त कर दिया था, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम ओदश मे जारी रखा है। बता दें कि सपा सरकार ने 31 अगस्त 2012 में जारी किए गए शासनादेश में टीईटी को मात्र अर्हता माना था और चयन का आधार शैक्षणिक गुणांक कर दिया गया था। इसी शासनादेश को निरस्त करते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गत वर्ष 31 मई को सहायक शिक्षकों का चयन टीईटी की मेरिट के आधार पर किए जाने का आदेश दिया था। हाईकोर्ट ने बसपा सरकार में 30 नवंबर, 2011 को जारी हुए भर्ती विज्ञापन को सही ठहराया। •टीईटी मेरिट पर ही भ्ार्ती के निर्देश सुप्रीम कोर्ट का यूपी सरकार को आदेश कहा, इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के मुताबिक करनी होंगी नियुक्तियां सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार को घेरा सुप्रीम कोर्ट : एनसीटीई की ओर से शिक्षकों की भर्ती के लिए लागू की गई टीईटी मे राज्य सरकार की ओर से संशोधन कर अपने मुताबिक किया जाना उचित नहीं है। यूपी सरकार : राज्य सरकार ने टीटीई को अपनाते हुए शैक्षणिक गुणांक को भी महत्व दिया है। कोर्ट : इस मामले में शासनादेश तमाम अभ्यर्थियों के टीईटी पास करने के बाद जारी किया गया। ऐसी स्थिति मे राज्य सरकार सिर्फ एनसीटीई के नियमों के मुताबिक जा सकती है। यूपी सरकार : सिर्फ एनसीटीई के मुताबिक प्रदेश मे किसी परीक्षा का कराया जाना तो थोपने जैसा है। वैसे भी एनसीटीई दिशा- निर्देशों को नजरअंदाज नहीं किया गया है। कोर्ट : शासनादेश के सही और गलत ठहराए जाने के हाईकोर्ट के आदेश के मुद्दे पर अदालत सभी पक्षों की दलीलों पर लंबी सुनवाई कर गौर करेगी। लेकिन राज्य सरकार हाईकोर्ट के आदेश का अनुपालन करे। यूपी सरकार के अगस्त, 2012 के शासनादेश को रद्द करने और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के शासनकाल में जारी किए गए नवंबर, 2011 के भर्ती विज्ञापन को सही ठहराने के हाईकोर्ट के फैसले मे कोई कमी नहीं है। ऐसे मे हाईकोर्ट के आदेश पर रोक न लगाए जाने के बावजूद राज्य सरकार की ओर से उसके अनुपालन के लिए कदम न उठाया जाना अनुचित है।

News Source: अमर उजाला

Supreme Court Decision on UPTET:

UPTET Latest Supremecourt Decision

News Source: Hindustan Times

29हजार पदों की काउंसलिंग स्थगित:

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शुरू होगी प्रक्रिया इलाहाबाद। गणित और विज्ञान के 29 हजार पदों की भर्ती की काउंसलिंग पर रोक लगा दी गई है। 72825पदों पर भर्ती पर 14फरवरी को सुनवाई होने के बाद आगे की प्रक्रिया निर्धारित की जाएगी। सुनवाई के चलते 12फरवरी को होने वाली जिलेवार काउंसलिंग को स्थगित कर दिया गया है। इससे पूर्व बीटीसी के दस हजार पदों की भर्ती के लिए 29 जनवरी को होने वाली काउंसलिंग को भी स्थगित कर दिया गया था। बीटीसी के दस हजार और गणित और विज्ञान के 29334सहायक अध्यापक पदों पर भर्ती के लिए आवेदन 2013में ही ले लिए गए थे। मगर 72825पदों पर भर्ती का मामला कोर्ट में चलने की वजह से काउंसलिंग शुरूनहीं की जा रही थी। शिक्षा निदेशालय पर आवेदकों द्वारा हर रोज हो रहे प्रदर्शन के बाद बेसिक शिक्षा परिषद ने दस हजार की काउंसलिंग 29जनवरी और 29हजार पदों की काउंसलिंग 12फरवरी को सशर्त कराने के निर्देश जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को भेज दिए गए थे। निर्देश में यह स्पष्ट कि गया था कि सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई पर ही काउंसलिंग निर्भर करेगी। सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई 29 जनवरी तक न होने की वजह से पहले यह काउंसलिंग रोक दी गई और अब सुनवाई की

तारीख 14फरवरी निर्धारित होने की वजह से काउंसलिंग रोक दी गई है

। सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के बाद ही सब कु

छ निर्भर करेगा।

टीईटी के लिए आए नौ लाख आवेदन:

7 और पांचवे स्थान पर आगरा जिले से 27909 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। जबकि सबसे कम आवेदन श्रावस्ती जिले से आया है। वहां से 1590अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी श्रीमती नीना श्रीवास्व ने बताया कि जिन अभ्यर्थियों के आनलाइन आवेदन पत्र में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी हो वह गुरुवार की शाम छह बजे तक उसे आनलाइन संशोधित कर सकते है।इलाहाबाद: शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के लिए 898534 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। इसमें से प्राथमिक स्तर के लिए 176995 अभ्यर्थी, प्राथमिक स्तर भाषा के 24127 अभ्यर्थी, उच्च प्राथमिक के लिए 566799 और उच्च प्राथमिक भाषा के लिए 130613 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। सबसे अधिक अभ्यर्थियों ने इलाहाबाद जिले में आवेदन किया है। उनकी संख्या 50612 है। दूसरे नंबर पर कानपुर नगर में 30084, तीसरे नंबर पर जौनपुर जिले से 28987, चौथे नंबर पर वाराणसी से 2864

News Source: Jagran

UPSESSB TGT and PGT recruitment 2014

Lucknow, Dec 31: Uttar Pradesh Secondary Education Service Selection Board (UPSESSB) has posted recruitment notification of 7140 vacancies for Trained Graduate Teacher (TGT) and Post Graduate Teacher (PGT) posts.

Interested candidates may fill the vacant posts by sending their application on or before 30th January 2014. Other details like age limit, qualification detail, selection and application process are given below. Candidates applying for the post may refer the given notification and start the application process.

UPSESSB recruitment 2014

Number of vacancies- 7140

Name of the posts and no of posts

Post Graduate Teacher (PGT)     – 1112 posts

Trained Graduate Teacher (TGT)-6028 posts

Age Limit

Candidates should not be below 21 years of age for TGT and PGT posts as on 01-07-2014.

Age relaxation will be applicable as per government rules.

Educational Qualification

For Trained Graduate Teacher TGT posts – Candidates must possess a degree in concerned subject with training degree.

For Post Graduate Teacher PGT posts – Candidates must possess Post Graduate degree in concerned subject.

Application Fee

General OBC and other unreserved category candidates- Rs 430/-

ST category candidates – Rs. 230/-

SC category candidates- Rs 130/-

Note- Application fee should be remitted in the form of DD, drawn in favor of Secretary Secondary Education Service Selection Board U.P. payable at Allahabad through the following banks: SBI, Punjab National Bank, Union Bank of India, Bank of Baroda and Allahabad Bank.

Selection Process

Selection will be done based on the candidates’ performance in written examination.

How to Apply

Interested candidates willing to apply for Trained Graduate Teacher (TGT) & Post Graduate Teacher (PGT) posts have to send their properly filled OMR application form along with all other documents to prove their eligibility to the below address before 30th January 2014.

Address

Uttar Pradesh Secondary Education Service Selection Board,

23, Elanganj

Allahabad – 211002

Important Date

Closing date for online submission- 30th January 2014

For more details candidates may visit the official website at www.upsessb.org

टीईटी मामले में बहस पूरी, फैसला 20 को आएगा:

प्रदेश के प्राथमिक विद्यालयों में 72825 रिक्त पदों की भर्ती के संबंध दाखिल विशेष अपीलों पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने फैसला सुरक्षित कर लिया है। अदालत 20 नवंबर को अपना फैसला सुनाएगी। इसके बाद ही इन पदों की चयन प्रक्रिया के मान निर्धारित किए जा सकेंगे। न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति विपिन सिन्हा की खंडपीठ ने लगातार दूसरे दिन शिवकुमार व दर्जनों अन्य की विशेष अपीलों पर सुनवाई की। राज्य सरकार की ओर से लगातार अपर महाधिवक्ता सीबी यादव ने नियमों में परिवर्तन के संबंध में पक्ष रखा। अपीलार्थियों की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अशोक खरे, शशिनंदन, शैलेंद्र, संजय मोहन, नवीन कुमार शर्मा, अभिषेक श्रीवास्तव आदि ने तर्क रखे। कोर्ट के समक्ष विचारणीय बिंदु यह है कि अध्यापकों की नियुक्ति का आधार टीईटी के अंकों या शैक्षिक गुणांक के आधार पर मेरिट को माना जाए। इसके साथ ही यह भी प्रश्न है कि विशिष्ट बीटीसी चयनित अभ्यर्थियों में नियुक्ति पाने से वंचित ऐसे अभ्यर्थियों को वरीयता दी जानी चाहिए या नहीं, जो टीईटी भी उत्तीर्ण कर चुके हैं। ऐसे हजारों अभ्यर्थी हैं जो प्रदेश टीईटी लागू होने से पहले ही विशिष्ट बीटीसी के लिए चयनित हो चुके हैं लेकिन उन्हें नियुक्ति नहीं मिल सकी है जबकि उनके ही अन्य साथी नियुक्ति पा चुके हैं। अदालत इस बिंदु पर भी अपने विचार देगी कि चयन का आधार क्या टीईटी की मेरिट और शैक्षिक गुणांक दोनों को ही बनाया जा सकता है। भर्ती से जुड़ा अहम मामला होने के कारण शुक्रवार को अदालत के बाहर अभ्यर्थियों की भीड़ लगी रही। हालांकि अब उन्हें बीस नवंबर तक इंतजार करना पड़ेगा।

News Source: Jagran

29,334 पदों पर भर्ती की काउंसलिंग जल्द….

उत्तर प्रदेश में जूनियर हाईस्कूल के लिए गणित व विज्ञान के शिक्षकों की काउंसलिंग इसी माह शुरू करने की तैयारी है।
इसके लिए नेशनल इंफारमेटिक सेंटर (एनआईसी) से दीपावली की छुट्टियों के बाद पूरी सूची मांग ली गई है।
इसके आधार पर मेरिट जारी करते हुए काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू की जाएगी और 31 दिसंबर तक नियुक्ति प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।
सचिव बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय इस संबंध में शीघ्र ही आदेश जारी करने वाला है। काउंसलिंग में आरक्षित और सामान्य वर्ग के दोगुना और नि:शक्त वर्ग के पांच गुना अभ्यर्थियों को बुलाया जाएगा।
प्रदेश में मौजूदा समय करीब 47 हजार उच्च प्राथमिक स्कूल हैं। इसमें गणित व विज्ञान के 58,666 शिक्षकों के पद रिक्त हैं। राज्य सरकार ने इसमें से आधे 29,334 पदों पर सीधी भर्ती और शेष बचने वाले पदों को पदोन्नति से भरने का निर्णय किया है।
इसके आधार पर टीईटी व सीटीईटी पास बीएड वालों से आवेदन लिए गए हैं। आवेदन लेने की प्रक्रिया 11 अक्तूबर को पूरी हो चुकी है।
इन पदों पर भर्ती के लिए काउंसलिंग की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी होती, लेकिन उर्दू शिक्षकों के लिए कटऑफ जारी होने के चलते गणित व विज्ञान शिक्षकों की मेरिट सूची रोक दी गई।
विभागीय जानकारों की मानें तो एनआईसी जिलेवार आए आवेदनों के मिलान की प्रक्रिया पूरी कर चुका है। शीघ्र ही वह पूरा ब्यौरा सचिव बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय इलाहाबाद को सौंप देगा।
इसके आधार पर परिषद कार्यालय जिलेवार सूची भेजेगा। सूची दीपावली के बाद कभी भी जारी की जा सकती है। इसे विभागीय वेबसाइट http://upbasiceduboard.gov.in/ पर देखा जा सकेगा।
काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू होने के बाद नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी, ताकि यह प्रक्रिया 31 दिसंबर तक पूरी हो जाए और शिक्षकों को नए साल में कार्यभार ग्रहण करा दिया जाएगा।

* गणित व विज्ञान शिक्षकों की काउंसलिंग नवंबर में….
* प्रदेश स्तर पर जारी की जाएगी मेरिट….
* बुलाए जाएंगे दोगुना अभ्यर्थी….

जूनियर हाईस्कूलों में गणित व विज्ञान शिक्षकों की भर्ती के लिए काउंसलिंग नवंबर में कराने की तैयारी है। इसके लिए कटऑफ मेरिट माह के अंत तक या फिर नवंबर के पहले हफ्ते में जारी की जाएगी। काउंसलिंग के लिए दोगुना अभ्यर्थियों को बुलाया जाएगा, ताकि टॉप मेरिट के अभ्यर्थियों के न आने पर दूसरों को मौका दिया जा सके। मेरिट प्रदेश स्तर पर जारी की जाएगी और इसे फार्म भरने वाली वेबसाइट पर ही देखा जा सकेगा। काउंसलिंग के बाद 31 दिसंबर तक चयनितों को सहायक अध्यापक की नौकरी दे दी जाएगी।

बेसिक शिक्षा परिषद के जूनियर हाईस्कूलों में 58,666 गणित व विज्ञान शिक्षकों के पद खाली हैं। इसमें से 29,334 शिक्षकों की सीधी भर्ती के लिए 11 अक्तूबर तक ऑनलाइन आवेदन लिए गए। सचिव बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय की मानें तो नेशनल इंफॉरमेटिक सेंटर से आवेदनों का पूरा ब्यौरा मांग लिया गया है। एनआईसी से मिलने वाले ब्यौरे का परिषद कार्यालय में मिलान करने के बाद जिलों को भेजा जाएगा। इसके बाद मेरिट का अनुमोदन जिला समिति से कराते हुए इसे जारी किया जाएगा। इस प्रक्रिया में कम से कम 8 से 10 दिन लगने का अनुमान है। इसके आधार पर ही नवंबर से काउंसलिंग कराने की तैयारी है।

News Source: Amar Ujala

UPTET : राष्ट्रपति ने मुख्यमंत्री के सचिव से मांगा जवाब

औरैया : दो बार आवेदन करने के बावजूद टीचर बनने को तीन साल से भटक रहे टीईटी पास बीएड अभ्यर्थियों ने प्रत्यावेदन भेजकर राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की अनुमति मांगी थी। इस मामले में राष्ट्रपति ने मुख्यमंत्री के सचिव से जवाब मांगा है।

प्रथम बैच में टीईटी उत्तीर्ण करने वाले कई अभ्यर्थियों ने कुछ दिन पहले राष्ट्रपति को प्रत्यावेदन भेजा था। उनका कहना था कि दो बार शिक्षकों की भर्ती निकाली गई और उन सबने आवेदन किए। पहली बार रोक लगा दी गई थी और दूसरी बार भी मामला हाईकोर्ट में पहुंच गया। अभ्यर्थियों का आरोप यह है कि प्रदेश सरकार प्रभावी पैरवी नहीं कर रही है इससे सालों से मामला लटका है।

NewsSource: Jagran

इंटर कॉलेजों में शिक्षकों-प्रधानाचार्यों की भर्तियां जल्द…

695 प्रिंसिपल और 6598 शिक्षक होंगे नियुक्त…
प्रदेश के सहायता प्राप्त इंटर कॉलेजों में प्रधानाचार्यों के 695 और शिक्षकों के 6598 पद जल्द भरे जाएंगे। इनमें प्रवक्ता के 1050 और सहायक अध्यापक के 5548 पद होंगे। प्रधानाचार्यों की यह नियुक्तियां 2011 की रुकी हुई 955 प्रधानाचार्यों की भर्ती के अलावा होंगी। ऑनलाइन आवेदन का निर्णय माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड ने किया है। इसके लिए बोर्ड ने शासन को पत्र भेजकर अनुमति मांगी है।
बोर्ड ने पिछले अगस्त में प्रवक्ता और सहायक अध्यापक की नियुक्ति के लिए विज्ञापन निकाला था। तब बोर्ड के सदस्यों की संख्या कम होने के कारण इन नियुक्तियों पर रोक लगा दी गई। इसी वजह से 2011 में 955 प्रधानाचार्यों की नियुक्तियों पर भी रोक लगा दी गई। हाल ही में कोर्ट ने फिर इन रुकी हुई नियुक्तियों की प्रक्रिया शुरू करने के आदेश दिए। साथ ही बोर्ड के सदस्यों की संख्या पूरी करने का भी आदेश दिया था। बोर्ड के सदस्यों की संख्या अब तीन से पांच हो चुकी है। जल्द ही और सदस्यों के पद भरने की प्रक्रिया भी चल रही है। इसी के साथ 2011 की रुकी हुई प्रधानाचार्यों की नियुक्ति प्रक्रिया बोर्ड ने पहले ही शुरू कर दी है। जिन्होंने आवेदन किया था उनकी जांच करा ली है। इसकी मेरिट लिस्ट भी पांच अक्तूबर तक जारी की जानी है।
बोर्ड अब अन्य खाली पदों पर भी नए सिरे से नियुक्ति प्रक्रिया शुरू करने जा रहा है। बोर्ड ने निर्णय लिया है कि अब नई नियुक्तियां ऑनलाइन आवेदन के जरिए की जाएंगी। शासन से ऑनलाइन आवेदन की अनुमति मिलते ही विज्ञापन जारी किया जाएगा। प्रधानाचार्यों की नियुक्ति इंटरव्यू के जरिए होगी। वहीं, प्रवक्ता और सहायक अध्यापक पद के लिए लिखित परीक्षा होगी। बोर्ड ने यह भी तय किया है कि प्रवेश परीक्षा के दौरान ओएमआर शीट की एक प्रति अभ्यर्थी को दी जाएगी। रिजल्ट के साथ ही आंसर की भी बोर्ड की वेबसाइट पर जारी की जाएगी, ताकि अभ्यर्थी उससे मिलान कर सकें।

News Paper Report

शिक्षक भर्ती के लिए 40 वर्ष वाले कर सकेंगे आवेदन……

हाईकोर्ट के आदेश के बाद शासन ने बढ़ाई अंतिम तिथि, 11 तक भरे जाएंगे फॉर्म ……
इलाहाबाद। परिषदीय विद्यालयों में गणित और विज्ञान के 29 हजार पदों के लिए आवेदन करने का इंतजार कर रहे 40 वर्ष की आयु वाले अभ्यर्थी भी अब आवेदन कर सकेंगे। यह अभ्यर्थी शिक्षक भर्ती के लिए मंगलवार से आवेदन कर सकेंगे। हाईकोर्ट के आदेश के बाद सरकार 40 वर्ष तक की आयु वाले अभ्यर्थियों को आवेदन करने की अनुमति दे दी है। फाॅर्म भरने के लिए पंजीकरण प्रक्रिया मंगलवार से शुरू हो जाएगी। नौ अक्तूबर तक ई-चालान जमा होगा। 11 अक्तूबर तक आवेदक फाॅर्मों को पूर्ण रूप से जमा कर सकेंगे।
शिक्षक भर्ती में आयु सीमा 35 के बजाए 40 वर्ष करने की मांग अभ्यर्थी आवेदन प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही कर रहे थे। आवेदकों का कहना था कि उन्होंने टीईटी 2011 में ही पास कर ली थी। मगर शासन स्तर से ही भर्तियां नहीं निकाली गई। इस कारण काफी संख्या में आवेदक ओवरएज हो गए। इसमें उनकी कोई गलती नहीं है। ऐेसे में सिर्फ 35 वर्ष तक वालों को ही आवेदन देने की छूट देना गलत है। छात्रों की समस्या को देखते हुए बेसिक शिक्षा परिषद सचिव ने इस संबंध में शासन को प्रस्ताव बनाकर भी भेजा था, लेकिन स्वीकृति नहीं मिली। इसी बीच कुछ छात्रों ने आयु सीमा बढ़ाने को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर दी। कोर्ट ने शासन से 40 वर्ष तक के छात्रों ने आवेदन लेने के निर्देश दे दिए। बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा का कहना है कि 40 वर्ष तक की आयु सीमा वाले आवेदकों के साथ ही वे छात्र भी आवेदन कर सकेंगे, जो 30 सितंबर तक आवेदन नहीं कर पाए हैं।
18 लाख से अधिक हुए आवेदन
शिक्षक भर्ती के लिए 30 सितंबर अंतिम तारीख थी। जिसमें 29 हजार पदों के लिए 18,36,569 आवेदन भरे गए। नौकरी की चाहत में एक-एक आवेदक ने 35-40 जिलों के लिए आवेदन किया है। जिस वजह से आवेदनों की संख्या इतनी अधिक हुई है। 40 वर्ष तक के आवेदकों को छूट देने के बाद आवेदनों की संख्या कई गुना बढ़ जाएगी।

बेसिक के एडेड स्कूलों में जल्द होगी बंपर भर्ती:

राज्य सरकार बेसिक शिक्षा परिषद के सहायता प्राप्त स्कूलों में भी शीघ्र ही भर्तियां खोलने जा रही है।
बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारी इस संबंध में कार्मिक विभाग से मिलकर भर्ती पर लगी रोक एक सप्ताह में हटवाएंगे।
बेसिक शिक्षा मंत्री रामगोविंद चौधरी ने इस बारे में अधिकारियों को निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि भर्तियों पर रोक की वजह से सहायता प्राप्त स्कूलों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है।
बेसिक शिक्षा परिषद लगातार 10 साल बच्चों को अच्छी शिक्षा देने वाले स्कूलों को अनुदान पर लेती है। अनुदान पर आने वाले स्कूलों को सहायता प्राप्त कहा जाता है और इसमें शिक्षकों कर्मचारियों की भर्तियां शासन के दिशा-निर्देश के आधार पर होती हैं।
प्रदेश में सत्ता बदलने के बाद अखिलेश सरकार ने सभी भर्तियों पर रोक लगा दी थी।
अधिकतर विभागों ने तो रोक हटवाते हुए भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी है लेकिन बेसिक शिक्षा परिषद के सहायता प्राप्त स्कूलों में भर्तियां अब भी बंद हैं।
बेसिक शिक्षा मंत्री ने इस संबंध में गुरुवार को अधिकारियों की बैठक बुलाई थी। उन्होंने सहायता प्राप्त स्कूलों में भर्तियों पर लगी रोक के कारणों को जाना।
अधिकारी इस पर स्पष्ट जवाब नहीं दे सके। वे सिर्फ इतना बता पाए कि कार्मिक विभाग ने रोक लगा रखी है।
मंत्री ने इस पर अधिकारियों को फटकार भी लगाई और कहा कि इसके चलते सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ाई प्रभावित हो रही है।
प्रदेश के कई जिलों की स्थिति तो इतनी खराब हो गई है कि शिक्षक होने की स्थिति में स्कूल बंदी के कगार पर पहुंच गए हैं।
इसलिए अधिकारी कार्मिक विभाग से मिलकर एक सप्ताह में रोक हटवाते हुए भर्ती प्रक्रिया शुरू करने की अनुमति दें।
जानकारों की मानें तो बेसिक शिक्षा मंत्री की घुड़की काम आई और अधिकारी रोक हटवाने की प्रक्रिया में तुरंत ही जुट गए हैं।

 टीईटी अब होगी जनवरी 2014 में…..

* परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने भेजा प्रस्ताव, बीएड वाले होंगे उच्च प्राइमरी के लिए पात्र……
* बीएड की खाली 32,000 सीटों पर सीधे मिलेगा प्रवेश…..

लखनऊ। शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) अब इस साल न कराकर जनवरी 2014 में कराने की योजना है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने इसके लिए शासन को प्रस्ताव भेज दिया है। इसमें 10 से लेकर 14 जनवरी के बीच किसी भी दिन दो पालियों में परीक्षा कराने की बात कही गई है। बीटीसी, उर्दू बीटीसी और कोर्ट के आदेश पर प्रशिक्षित विशिष्ट बीटीसी वाले प्राइमरी और बीएड वाले उच्च प्राइमरी स्कूलों की टीईटी के लिए पात्र होंगे। शासन से मंजूरी मिलने के बाद आदेश जारी करते हुए आवेदन लेने की प्रक्रिया दिसंबर में शुरू करने की योजना है।
शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद कक्षा आठ तक के स्कूलों में शिक्षक बनने के लिए टीईटी अनिवार्य कर दिया गया है। इसके आधार पर राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने वर्ष 2010 में अधिसूचना जारी करते हुए राज्यों से साल में दो बार टीईटी आयोजित कराने की व्यवस्था की है। उत्तर प्रदेश में अब तक केवल दो बार यानी नवंबर 2011 और जून 2013 में टीईटी आयोजित हुई है। वर्ष 2012 में टीईटी आयोजित नहीं की गई। इस बार साल में दो बार टीईटी कराने की तैयारी थी लेकिन देरी होने की वजह से यह तय किया गया है कि अब इसे जनवरी 2014 में कराया जाए। परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने इसके आधार पर प्रस्ताव भेजा है। इसमें टीईटी जनवरी में कराए जाने की बात कही गई है। इस बार भाषा शिक्षकों के लिए अलग से परीक्षा कराने का प्रस्ताव नहीं है। वजह साफ है कि जून 2013 की परीक्षा में मोअल्लिम वालों को भी शामिल होना था, इसलिए भाषा शिक्षक के लिए टीईटी की अलग से व्यवस्था की गई थी।
कानपुर (ब्यूरो)। प्रदेश में खाली चल रही बीएड की 32,000 सीटों पर अब सीधे प्रवेश लिया जा सकेगा। यह फैसला उच्चशिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव नीरज गुप्ता ने सेल्फ फाइनेंस कॉलेज प्रबंधकों की मांग पर लिया है। नए आदेश के मुताबिक जिन कॉलेजों में बीएड की सीटें खाली है वो कॉलेज विज्ञापन जारी कर सीधे आवेदन मंगा सकते हैं। प्रवेश की पूरी प्रक्रिया 15 अक्टूबर तक संपन्न की जानी है। इस प्रक्रिया के तहत प्रदेश में कुल 32,000 सीटें भरी जाएंगी। प्रवेश केवल उन्हीं अभ्यर्थियों को दिया जाएगा जो बीएड की प्रवेश परीक्षा में सम्मिलित हुए थे।

Press News

UPTET : दस हजार शिक्षकों की भर्ती अक्टूबर से

लखनऊ : बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित प्राथमिक स्कूलों में 10,000 शिक्षकों की भर्ती होने जा रही है। भर्ती के लिए विज्ञापन प्रकाशन से लेकर नियुक्ति तक की प्रक्रिया 15 अक्टूबर से 15 दिसंबर के बीच पूरी की जाएगी। भर्ती के लिए विभिन्न जिलों में पद आवंटित कर दिये गए हैं।

बेसिक शिक्षा विभाग ने इस बारे में बुधवार को शासनादेश जारी कर दिया है। इन पदों पर भर्ती के लिए राज्य या केंद्र सरकार की ओर से आयोजित अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी/ सीटीईटी) उत्तीर्ण करन के साथ दो वर्षीय बीटीसी या विशिष्ट बीटीसी या दो वर्षीय बीटीसी उर्दू प्रवीणताधारी प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले अभ्यर्थी आवेदन कर सकेंगे। भर्ती के लिए अभ्यर्थियों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। शिक्षकों की भर्ती के कार्यक्रम के बारे में शासन ने बेसिक शिक्षा निदेशक से प्रस्ताव मांगा है।

कहां कितनी होगी भर्ती

शिक्षकों की भर्ती के लिए मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, हापुड़, गौतम बुद्ध नगर, लखनऊ, झांसी व कानपुर नगर में प्रत्येक में 10, आगरा, फिरोजाबाद, एटा, हाथरस, मथुरा, बरेली, प्रतापगढ़, कौशाम्बी, वाराणसी, गाजीपुर, उन्नाव, बस्ती, जालौन, चित्रकूटधाम, महोबा, हमीरपुर, फैजाबाद, सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, मुरादाबाद, बिजनौर, कानपुर देहात, आजमगढ़ व मऊ में प्रत्येक में 50, कन्नौज में 60, बुलंदशहर, अलीगढ़, इलाहाबाद, फतेहपुर, जौनपुर, रायबरेली, गोरखपुर, संत कबीर नगर, ललितपुर, बांदा, बाराबंकी, गोंडा, संभल, रामपुर, इटावा, औरैया, फर्रुखाबाद, बलिया, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर व शामली में प्रत्येक में 100, अमरोहा में 110, मैनपुरी, कासगंज, मीरजापुर, सोनभद्र, देवरिया व अमेठी में प्रत्येक में 150, बदायूं, पीलीभीत व संत रविदास नगर में प्रत्येक में 200, शाहजहांपुर, चंदौली, कुशीनगर, महाराजगंज, सिद्धार्थनगर, बलरामपुर, बहराइच, व श्रावस्ती में प्रत्येक में 400, हरदोई व लखीमपुर खीरी में प्रत्येक में 500 और सीतापुर में 750 पद आवंटित किये गए हैं

Good News for Junior Section Teachers GEN candidates, whose age crossed 35 years…

बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राइमरी स्कूलों में गणित व विज्ञान शिक्षकों की भर्ती की आयु सीमा में पांच वर्ष का विस्तार किया जाएगा। अब यह 40 वर्ष होगी। यह जानकारी बेसिक शिक्षा मंत्री राम गोविंद चौधरी ने दी।
बृहस्पतिवार को यहां रमाबाई अंबेडर मैदान में आयोजित राज्य स्तरीय इंस्पायर अवार्ड प्रदर्शनी में शिरकत करने पहुंचे बेसिक शिक्षा मंत्री ने पत्रकारों द्वारा उठाए गए सवालों के जवाब में यह जानकारी दी। इस संबंध में जल्द ही शासनादेश जारी किए जाने की उम्मीद है। नवंबर 2011 में हुई टीईटी में पास हजारों ऐसे अभ्यर्थी हैं, जिनकी आयु 35 वर्ष से अधिक हो चुकी है। उन्होंने इस संबंध में शासन से लेकर बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव तक से गुहार लगाई थी कि आयु सीमा 5 वर्ष और बढ़ा दी जाए ताकि उन्हें भी मौका मिल सके। उल्लेखनीय है कि उच्च प्राइमरी स्कूलों में पहली बार विज्ञान व गणित के 29,334 शिक्षक के पदों पर सीधी भर्ती के लिए आवेदन ऑनलाइन लिए जा रहे हैं।

New Source: Amar Ujala

न्याय मांगने पहुंचे, टीईटी अभ्यर्थियों पर बरसीं लाठियां नियुक्ति की मांग करने गए अभ्यर्थियों ने जोश में खोया होश

इलाहाबाद। दो-दो बार शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन करने वाले टीईटी पास अभ्यर्थी लंबित मुकदमे में त्वरित न्याय की मांग करने सोमवार को हाईकोर्ट तक पहुंच गए। जोश में होश खो बैठे कुछ अभ्यर्थियों ने जजेज कालोनी की तरफ जाने की कोशिश की तो पुलिस की लाठी खानी पड़ी। लाठी चार्ज के बाद पुलिस ने 15 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर कैंट थाने भेज दिया। इन छात्रों की रिहाई की मांग करने पहुंचे भाजपा नेताओं पर भी पुलिस ने लाठी चार्ज किया। देर शाम छात्रों को रिहा कर दिया गया। अभ्यर्थियों ने आंदोलन और तेज करने की घोषणा की। पुलिस के लाठीचार्ज से बड़ी संख्या में आंदोलनकारियों को चोटें भी आई।
शिक्षा निदेशालय के पास चल रहे क्रमिक अनशन के सातवें दिन टीईटी पास सैकड़ों अभ्यर्थी जुलूस की शक्ल में हाईकोर्ट के सामने पहुंचे। प्रदर्शनकारियों के हुजूम को देखते हुए हाईकोर्ट के पास पहले से ही पुलिस फोर्स तैनात थी। गुहार लगाने के बाद अभ्यर्थी लौट रहे थे लेकिन बड़ी संख्या में अभ्यर्थी हाईकोर्ट जजेज कॉलोनी की तरफ चले गए।
प्रदर्शनकारियों को हाईकोर्ट की आवासीय कॉलोनी में जाते देख पुलिस ने इन पर लाठी चलाना शुरू कर दिया। लाठी चार्ज के दौरान पुलिस ने 15 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर कैंट थाने भेज दिया। आंदोलनकारियों को छुड़ाने के लिए भाजपा युवा मोर्चा के महानगर अध्यक्ष नरसिंह, ओपी द्विवेदी के साथ काफी संख्या में कार्यकर्ता और टीईटी अभ्यर्थी कैंट थाने पहुंच गए।
गिरफ्तार प्रदर्शनकारियों को छुड़ाने के लिए सभी धरने पर बैठ गए। वहां पुलिस और पीएसी से छात्रों की बहस भी हुई। छात्रों के न हटने पर पुलिस और पीएसी ने वहां भी लाठी चलाई। पुलिस और पीएसी ने प्रदर्शनकारियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। भाजपा नेता ओपी द्विवेदी समेत कुछ कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।
बार के हस्तक्षेप पर छूटे प्रदर्शनकारी
प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी की जानकारी पर शाम को हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के महासचिव प्रभाशंकर मिश्र, सत्यम पांडेय, भाजपा नेता शशि वार्ष्णेय, शैलतनया श्रीवास्तव, देवेंद्र नाथ मिश्र, अमित मालवीय समेत बड़ी संख्या में लोग थाने पहुंच गए। शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार भाजपा नेता ओपी द्विवेदी, पप्पू पांडेय समेत सभी प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने मुचलका भरवाकर छोड़ दिया। टीईटी मोर्चा अध्यक्ष मनोज मौर्या, रणविजय राणा, राजेश कुमार समेत सभी छात्रों का कहना है कि अपनी मांगों को लेकर उनका आंदोलन जारी रहेगा।

News Source: Amar Ujala

60 Thousand Shiksha Mitra will get Pay of Rs 25000/- after samayojan / regularization in Primary Teacher Job

For detail news please read Hindustan New Paper (22/09/13)

शिक्षक भर्ती में 40 वर्ष वालों को मिलेगा मौका!

बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राइमरी स्कूलों में गणित व विज्ञान शिक्षकों की भर्ती की आयु सीमा 35 से बढ़ाकर 40 वर्ष करने की तैयारी है। बेसिक शिक्षा परिषद के प्रस्ताव पर शासन स्तर पर विचार चल रहा है। जानकारों की मानें तो इस पर शीघ्र ही निर्णय करते हुए शासनादेश जारी कर दिया जाएगा।

उच्च प्राइमरी स्कूलों में पहली बार विज्ञान व गणित के 29,334 शिक्षक के पदों पर सीधी भर्ती के लिए आवेदन ऑनलाइन लिये जा रहे हैं। इसके लिए 21 से 35 वर्ष की आयु वालों को पात्र माना गया है। शिक्षक बनने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण 24 सितंबर, ई-चालान 26 सितंबर तक बनवाने के बाद आवेदन 30 सितंबर तक किए जा सकते हैं। नवंबर 2011 में हुई टीईटी में पास हजारों ऐसे अभ्यर्थी हैं, जिनकी आयु 35 वर्ष से अधिक हो चुकी है।

उन्होंने इस संबंध में शासन से लेकर बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव तक से गुहार लगाई थी कि आयु सीमा 5 वर्ष और बढ़ा दी जाए, ताकि उन्हें भी मौका मिल सके। सूत्रों का कहना है कि इसके आधार पर ही परिषद ने प्रस्ताव बनाकर भेजा है जिस पर शीघ्र ही निर्णय होने की संभावना है।

News Source: Ujala

टीईटी मामले की सुनवाई 13 को…. 

इलाहाबाद : प्रदेश के परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापकों के खाली पदों को भरने की प्रक्रिया के मानकों को लेकर दाखिल अपीलों की सुनवाई 13 सितम्बर को होगी। यह आदेश इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति एलके महापात्र तथा न्यायमूर्ति अमित स्थालेकर की खण्डपीठ ने दिया है। अपीलों में चयन के लिए टीईटी के प्राप्तांक को आधार बनाए जैसे कई मुद्दे याचिकाओं में उठाए गए हैं। पूर्णपीठ द्वारा सहायक अध्यापकों की भर्ती में टीईटी को अनिवार्य करार देने के फैसले के बाद चयन के आधार को लेकर विवाद खड़ा हुआ है। पूर्णपीठ ने इस प्रकरण को बिना निर्णीत किए संबंधित खण्डपीठ को वापस कर दिया था। चयन का मानक तय न होने के कारण अध्यापकों के खाली पदों को नहीं भरा जा सका है जिसके चलते प्रदेश में प्राथमिक शिक्षा पाने का मूल अधिकार का पालन नहीं हो पा रहा है।

News Source: Danik Jagran

प्राथमिक शिक्षकों के रिक्त पदों पर सरकार से इलाहाबाद हाईकोर्ट की जवाब तलब:

Ganesh-Chaturthi-Tilak लखनऊ : इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश में बच्चों को अनिवार्य प्राथमिक शिक्षा के मूल अधिकारों की रक्षा करने तथा विद्यालयों में सहायक अध्यापकों के खाली पदों को भरने की मांग को लेकर दाखिल जनहित याचिका पर राज्य सरकार से चार सप्ताह में जवाब मांगा है। कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा है कि भारी संख्या में अध्यापकों के खाली पदों को भरने के लिए क्या कदम उठाए गए हैं।

यह आदेश मुख्य न्यायाधीश शिवकीर्ति सिंह तथा न्यायमूर्ति विक्रमनाथ की खंडपीठ ने मे. राइट आर्गेनाइजेशन वाराणसी की जनहित याचिका पर दिया है। याची का कहना है कि संविधान के अनुच्छेद 21 (ए) के अंतर्गत 6 से 14 वर्ष तक के बच्चों को नि:शुल्क व अनिवार्य शिक्षा का अधिकार दिया गया है। इसी क्रम में केंद्र ने सर्व शिक्षा अभियान चलाया और सभी बच्चों को स्कूल भेजने की मुहिम चलाई। प्रदेश सरकार ने शिक्षा अधिकार कानून-2009 भी पारित कर व्यापक पैमाने पर शिक्षकों की भर्ती करने की योजना बनाई। चंदौली जिले में 10 हजार 800 पदों का विज्ञापन निकाला गया जिसमें मानकों की पूरी तरह से अनदेखी की गई। 21 व 28 जून 13 को काउंसिलिंग के लिए बुलाया गया। नोटिस जारी कर काउंसिलिंग में शामिल लोगों को 22 जुलाई को मेडिकल के लिए बुलाया गया। याची का कहना है कि पूरे प्रदेश में 2 लाख 64 हजार 4 सौ 66 सहायक अध्यापकों के पद खाली हैं। चंदौली में विज्ञापित पदों में से 59 फीसदी पद नहीं भरे गए। स्कूलों में अध्यापक न होने से बच्चों के शिक्षा पाने के मूल अधिकार का हनन हो रहा है। कोर्ट ने राज्य सरकार से खाली पदों को भरने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी मांगी है।

लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अध्यक्षता में प्रदेश कैबिनेट ने मंगलवार को सहायता प्राप्त शिक्षण संस्थाओं और प्राविधिक शिक्षण संस्थाओं के करीब 80 हजार शिक्षणेतर कर्मचारियों को तोहफा दिया। कैबिनेट ने वेतन समिति 2008 के 11 वें प्रतिवेदन की संस्तुतियों पर विचार कर कुछ संशोधनों के साथ मंजूरी दे दी। इससे शिक्षणेतर कर्मचारियों को संशोधित वेतन बैंड व ग्रेड पे मिलने का रास्ता साफ हो गया है। इससे कर्मचारियों के वेतन में अच्छा इजाफा होगा। जो कर्मचारी राज्यकर्मियों की तरह अर्हता रखते हैं उन्हें राज्यकर्मियों के समान और जो कर्मचारी राज्यकर्मियों की तरह अर्हता नहीं रखते हैं, उन्हें सामान्य पुनरीक्षित वेतन बैंड व ग्रेड पे मिलेगा।

वेतन समिति 2008 ने 11 वें प्रतिवेदन के माध्यम से सहायता प्राप्त शिक्षण संस्थाओं, प्राविधिक शिक्षण संस्थाओं केशिक्षणेतर कर्मचारियों के सामान्य संवर्ग तथा अन्य संवर्ग के संबंध में सामान्यतया राजकीय विभागों के अनुरूप व्यवस्था करने की संस्तुति की थी। इसमें पद वार पुनरीक्षित वेतनमान व ग्रेड पे का प्रावधान है।
सूत्रों के अनुसार वित्त विभाग ने इन संस्थाओं को राजकीय विभागों से काफी भिन्न करार दिया। साथ ही राजकीय विभागों में संबंधित पदों व संवर्गों के कार्य व उत्तरादायित्व को इन संस्थाओं के कर्मियों से हटकर मानते हुए अपना प्रस्ताव कैबिनेट को भेजा था। कैबिनेट ने संस्तुतियों को इस शर्त के साथ मंजूरी दे दी है कि विभिन्न पदों पर कार्यरत ऐसे कर्मचारी जो राजकीय विभागों के समान अर्हता रखते हैं उन्हें राजकीय विभागों के समान वेतन बैंड व ग्रेड पे मिलेगा। जो कर्मचारी यह अर्हता नहीं रखते उन्हें संबंधित पद का सामान्य पुरनीक्षित वेतन बैंड व ग्रेड वेतन मिलेगा।
इसमें राज्य कर्मचारियों की तरह विभिन्न पदों का पुनर्गठन और उसी हिसाब से ग्रेड पे बदलाव की व्यवस्था है। कुछ पदों को जहां आपस में मर्ज करने की बात कही गई है।

News Source: Amar Ujala

विज्ञान व गणित शिक्षकों के लिए पंजीकरण कल से…

लखनऊ। बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राइमरी स्कूलों में विज्ञान व गणित के सहायक अध्यापक पदों पर होने वाली भर्ती के लिए गुरुवार से प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसके लिए गुरुवार को विज्ञापन प्रकाशित कराते हुए 30 अगस्त से 30 सितंबर तक आवेदन लिए जाएंगे।
इस संबंध में सचिव बेसिक शिक्षा परिषद संजय सिन्हा ने आदेश जारी कर दिया है। उन्होंने बेसिक शिक्षा अधिकारियों को इस संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश भेज दिया है। इसके लिए स्नातक, बीटीसी, विशिष्ट बीटीसी, बीएड टीईटी पास वाले पात्र होंगे। टीईटी में न्यूनतम 60 फीसदी अंक पाना अनिवार्य होगा। आरक्षित वर्ग के लिए 55 फीसदी अंक की अनिवार्यता होगी।
उच्च प्राइमरी स्कूलों में गणित के 14667 और विज्ञान के 14667 शिक्षकों की भर्ती की जानी है। कुल 29,334 सहायक अध्यापक पदों पर होने वाली भर्ती के लिए ऑनलाइन http://upbasiceduboard.gov.in/ लिए जाएंगे। सामान्य और पिछड़ा वर्ग के लिए 500 और अनुसूचित जाति, जनजाति के लिए 200 रुपये आवेदन शुल्क होगा। इसके लिए स्टेट बैंक से ई-चालान बनवाना होगा। इसके लिए नगद भुगतान के साथ एटीएम, डेबिट कार्ड और इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से पैसा जमा किया जा सकेगा।

आज प्रकाशित होगा विज्ञापन

आवेदन के लिए कब क्या
विज्ञापन का प्रकाशन 29 अगस्त
ऑनलाइन पंजीकरण 30 अगस्त से
ऑनलाइन पंजीकरण की अंतिम तिथि 24 सितंबर
ई-चालान बनवाने की अंतिम तिथि 26 सितंबर
ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 30 सितंबर

आवेदन के लिए कब क्या
-जिलेवार विज्ञापन 29 अगस्त
-पंजीकरण 30 अगस्त से
-पंजीकरण की अंतिम तिथि 24सितम्बर
ई चालान प्रिन्ट करने की अंतिम तिथि 24 सितम्बर
बैंक मे आवेदन शुल्क जमा करने की अंतिम तिथि 26 सितम्बर
-आवेदन की अंतिम तिथि 30 सितंबर रात 12 बजे तक

कहां कितने पद….

मेरठ में 286, बागपत में 170,बुलंदशहर में 548, गाजियाबादमें 250, गौतमबुद्धनगर में 150, आगरा में 580, फिरोजाबाद में 400, मैनपुरी में 340, अलीगढ़ में 490, कांशीराम नगर में 330, एटा में 330, हाथरस में 76, मथुरामें 292, बरेली में 536, बदायूं में 498, पीलीभीत में 354, शाहजहांपुर में 576, इलाहाबाद में 676, फतेहपुर में 516, प्रतापगढ़ में 158, कौशांबी में 246, वाराणसी में 254, चंदौली में 302, गाजीपुर में 542, जौनपुर में 412, मिर्जापुर में 394, सोनभद्र में 386, संतरविदासनगर में 254, लखनऊ में 314, हरदोई में 694, सीतापुर में 660, रायबरेली में 436, उन्नाव में 520, लखीमपुर में 630, गोरखपुर में 516, देवरिया में 522, कुशीनगर में 564, महाराजगंज में 268, बस्ती में 414, संतकबीर नगर में 265, सिद्धार्थनगर में 444, झांसीमें 372, ललितपुर में 350, जालौन में 382, चित्रकूट में 292, बांदा में 390, महोबा में 224, हमीरपुर में 282, फैजाबाद में 376, बाराबंकीमें 172, सुल्तानपुर में 176, अंबेडकरनगर में 410, गोंडामें 608, बलरामपुर में 440, बहराइच में 722, श्रावस्ती में 236, मुरादाबाद में 560, रामपुरमें 350, बिजनौर में520, ज्योतिबाफुलेनगरमें 340, कानपुर नगर में 450, कानपुर देहात में 510, इटावा में 364, औरैया में 312, फर्रुखाबाद में 388, कन्नौज में 380, आजमगढ़ में 720, बलिया में478, मऊमें 330, सहारनपुर में 398और मुजफ्फरनगर में 418पद।सभी जिलों में जितने पदहैं उसमेंआधा गणितऔर आधा विज्ञान शिक्षक के हैं।

UPTET: 29 हजार शिक्षकों की होगी भर्ती नियुक्त हो सकेंगे…

29 हजार शिक्षकों की होगी भर्ती नियुक्त हो सकेंगे बीएड डिग्रीधारक परिषदीय जूनियर हाईस्कूलों में गणित और विज्ञान शिक्षकों के 50 प्रतिशत सीधी भर्ती के पदों पर टीईटी/सीटीईटी उत्तीर्ण बीटीसी प्रशिक्षण प्राप्त अभ्यर्थियों के अलावा बीएड/बीएड (विशेष शिक्षा)/ डीएड (विशेष शिक्षा) डिग्रीधारक भी नियुक्त किये जा सकेंगे। इस संबंध में उप्र बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली 1981 में संशोधन
किया जा चुका है।
जूनियर हाईस्कूलों में विज्ञान-गणित के अध्यापकों की कमी होगी दूर प्रदेश में खाली हैं 58 हजार पदराजीव दीक्षित, लखनऊ निकट भविष्य में बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित जूनियर हाईस्कूलों में
विज्ञान और गणित विषयों के शिक्षकों की कमी दूर हो सकेगी। जूनियर हाईस्कूलों में विज्ञान और गणित के शिक्षकों के रिक्त पदों पर 29,333 शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। यह पहला मौका होगा जब परिषदीय जूनियर हाईस्कूलों में शिक्षकों की सीधी भर्ती होगी। प्रदेश में बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित 1.14 लाख प्राथमिक और तकरीबन 46,000 जूनियर हाईस्कूल हैं। परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में
शिक्षकों की नियुक्ति सीधी भर्ती से होती है जबकि जूनियर हाईस्कूलों में अध्यापकों के पद प्रोन्नति से भरे जाते थे। अब तक प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापक के पद पर नियुक्त हुए शिक्षकों को तीन साल की सेवा पूरी करने पर प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक या जूनियर हाईस्कूल में सहायक अध्यापक के पद पर प्रोन्नत किया जाता रहा है। परिषदीय जूनियर हाईस्कूलों में विज्ञान और गणित के
शिक्षकों की कमी बनी हुई है। लिहाजा शासन ने पिछले साल उप्र बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली, 1981 में संशोधन करके जूनियर हाईस्कूलों में विज्ञान और गणित शिक्षकों के 50 प्रतिशत
पदों को सीधी भर्ती से भरने का फैसला किया है। जूनियर हाईस्कूलों में विज्ञान और गणित शिक्षकों के 58,666 पद रिक्त हैं। इसी के तहत जूनियर हाईस्कूलों में विज्ञान और गणित अध्यापकों के 50
प्रतिशत यानी 29,333 रिक्त पदों पर शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा सुनील कुमार के मुताबिक यह भर्ती प्रक्रिया को दो से तीन महीने में पूरी करने की योजना है।

UPTET : शिक्षक भर्ती में कटऑफ भेजने की प्रक्रिया आज से….

प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती के लिए जिलों में कटऑफ भेजने की प्रक्रिया शुक्रवार से शुरू करने की तैयारी है। बेसिक शिक्षा अधिकारी इसके आधार पर विज्ञापन प्रकाशित करते हुए मेरिट में आने वालों को काउंसलिंग के लिए बुलाएंगे। बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने गुरुवार को काउंसलिंग के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश भेज दिया है। इसके अलावा टीईटी में 55 फीसदी अंक पाने वाले स्वतंत्रता संग्राम सेनानी आश्रितों को पात्र मानते हुए उनकी सूची भी जारी कर दी गई है।
प्रदेश में 72 हजार 825 प्रशिक्षु शिक्षकों की होने वाली भर्ती के लिए रैंक जारी की जा चुकी है। बेसिक शिक्षा परिषद ने गुणांक के आधार पर कटऑफ तय कर लिया है। इसे जिलों में भेजने की प्रक्रिया शुक्रवार से शुरू करने की योजना है। जिलों में बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में इसे कब चस्पा किया जाएगा, इस पर फैसला अभी नहीं किया जा सका है। जिलों में कटऑफ भेजे जाने के बाद काउंसलिंग का कार्यक्रम तय किया जाएगा। विभागीय जानकारों की मानें तो कम से कम तीन बार काउंसलिंग की जाएगी। पहली काउंसलिंग से रिक्त बचने वाले पदों के लिए दूसरी और तीसरी काउंसलिंग की जाएगी। बेसिक शिक्षा परिषद ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि काउंसलिंग में शामिल होने मात्र से नियुक्ति के लिए दावा नहीं किया जा सकेगा। काउंसलिंग में जाने के लिए कोई यात्रा भत्ता भी नहीं दिया जाएगा।

UPTET : स्‍कूलों में नियुक्ति को टीईटी जरूरी
एकल जज के आदेश के खिलाफ स्पेशल अपील खारिज

इलाहाबाद। हाईकोर्ट ने एकल जज के निर्णय को चुनौती देने वाली विशेष अपील को खारिज करते हुए कहा है कि सहायक अध्यापक पद पर नियुक्ति हेतु टीईटी अनिवार्य है। पूर्व में हाईकोर्ट की एकल न्यायपीठ ने भी यही आदेश देते हुए अभ्यर्थियों की याचिकाएं खारिज कर दी थी। प्रभाकर सिंह और कई अन्य की ओर से दाखिल विशेष अपील पर न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति अभिनव उपाध्याय की खंडपीठ ने सुनवाई की।
याचिका में एकल न्यायपीठ के एक नवंबर 2011 के आदेश को चुनौती दी गई थी। कोर्ट ने कहा कि एनसीटीई द्वारा 23 अगस्त 2010 का अधिसूचना जारी की गई है कि प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक पद पर नियुक्ति के लिए टीईटी पास करना अनिवार्य कर दिया है। इसलिए इसकी अर्हता के बिना अब कोई सहायक अध्यापक नहीं बन सकेगा। याचियों का कहना था कि सहायक अध्यापक पद पर नियुक्ति के लिए टीईटी सभी के लिए अनिवार्य नहीं है। स्पेशल बीटीसी 2004 के अभ्यर्थियों का कहना है कि उनके बैच की चयन प्रक्रिया टीईटी की अधिसूचना जारी होने से पूर्व प्रारंभ हो चुकी है इसलिए उनके लिए इसे अनिवार्य न किया जाए।
इसी प्रकार से अन्य अभ्यर्थियों की अपनी दलीलें थी। कोर्ट ने इसे खारिज करते हुए एकल न्यायपीठ के आदेश को बहाल रखा है!!!!!

UPTET : टीईटी मेरिट के आधार पर चयन की मांग खारिज

इलाहाबाद (ब्यूरो)। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सहायक अध्यापकों की भर्ती के मामले में सुनवाई करते हुए स्पष्ट किया कि सहायक अध्यापक नियमावली 1981 के नियम छह में सरकार को न्यूनतम आयु सीमा निर्धारित करने का अधिकार नहीं है। वह सिर्फ अधिकतम आयु सीमा का निर्धारण कर सकती है। राज्य सरकार ने सेवा नियमावली में 16 वां संशोधन करते हुए चार दिसंबर 2012 को न्यूनतम आयुसीमा 18 से बढ़ाकर 21 वर्ष कर दी थी। इससे तमाम अभ्यर्थी अंडरएज हो गए। कोर्ट ने नियमावली का हवाला देते हुए कहा कि आयु सीमा की गणना विज्ञापन जारी करने की तिथि के बाद आने वाले साल में की जाएगी। ऐसे में अभ्यर्थियों की आयु की गणना एक जुलाई 2012 के स्थान पर एक जुलाई 2013 को की जानी चाहिए। कुछ याचियों ने टीईटी मेरिट को ही चयन का आधार मानने की मांग की थी। उनका कहना था कि यह निर्णय पूर्व की सरकार द्वारा लिया गया था। इसे बहाल रखा जाना चाहिए। कोर्ट ने इसे अस्वीकार करते हुए याचिकाएं खारिज कर दी।

शिक्षा …मित्रोें द्वारा मौजूद विज्ञापित पदों में आरक्षण देने की मांग को लेकर दाखिल याचिका भी कोर्ट ने खारिज कर दी। चार वर्षीय बीएलएड कोर्स को अर्हता में शामिल न किए जाने के खिलाफ दाखिल याचिकाओं पर कोर्ट ने राज्य सरकार से जवाब मांगा है। इस मुद्दे पर 29 जनवरी को सुनवाई होगी। कई याचियों के अधिवक्ताओं ने मौखिक तौर पर आवेदन शुल्क कम करने की मांग की थी। कोर्ट ने कहा कि चूंकि किसी भी याचिका में फीस कम करने की मांग नहीं की गई है इसलिए इस पर कोई आदेश नहीं दिया जा सकता है।

एक याचिका में आरक्षित वर्ग (एससी-एसटी) को दोहरा लाभ दिए जाने की शिकायत की गई है। कोर्ट ने इस पर सुनवाई केलिए 17 जनवरी की तिथि नियत की है। बीटीसी अभ्यर्थियों द्वारा घोषित पदों पर नियुक्ति देने की मांग भी खारिज कर दी गई है। याचिकाओं पर एनसीटीई के वकील रिजवाल अली अख्तर ने कोर्ट को नियमावली की जानकारी दी।

UPTET : शिक्षक भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन सात तक

पांच तक जमा कर सकेंगे ई-चालान
-22 को जारी होगी मेरिट लिस्ट, 28 से होगी काउन्सिलिंग
-अभ्यर्थियों की दिक्कतों को देखते हुए शासन ने बढ़ायी तारीख
जागरण ब्यूरो, लखनऊ : बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित स्कूलों में अध्यापकों के 72,825 रिक्त पदों पर प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तारीख को शासन ने बढ़ाकर सात जनवरी कर दिया है। ऑनलाइन आवेदन करने के लिए अभ्यर्थी पांच जनवरी तक ई-चालान जमा कर सकेंगे। ऑनलाइन आवेदन की तारीख को सात दिन बढ़ाये जाने से सफल अभ्यर्थियों की मेरिट सूची अब 15 के बजाय 22 जनवरी को प्रकाशित की जाएगी। वहीं सफल अभ्यर्थियों की काउन्सिलिंग अब 28 जनवरी से शुरू होगी।
शासन ने इस संबंध में सचिव बेसिक शिक्षा परिषद और ऑनलाइन आवेदन के लिए सॉफ्टवेयर संचालित करने वाले नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर (एनआइसी) को संशोधित विज्ञप्ति जारी कर दी है। सर्वर मंद पड़ जाने के कारण जहां अभ्यर्थियों को ऑनलाइन आवेदन करने में दिक्कत हो रही थी। वहीं उन्हें बैंक से चालान बनवाने में भी समस्या हो रही थी। अभ्यर्थियों की दिक्कतों को देखते हुए बेसिक शिक्षा मंत्री राम गोविंद चौधरी ने ई-चालान जमा करने और ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तारीख को बढ़ाने का निर्देश दिया था। मंत्री के निर्देश पर विभाग ने ऑनलाइन आवेदन और ई-चालान जमा करने की अंतिम तारीखें बढ़ा दी हैं। पांच दिसंबर को जारी शासनादेश में ऑनलाइन आवेदन के लिए अंतिम समयसीमा 31 दिसंबर की रात 12 बजे तक निर्धारित की गई थी।
प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती के लिए ई-चालान जमा करने की पूर्व निर्धारित समयसीमा बीतने तक 63.5 लाख ई-चालान जमा हो चुके थे। वहीं 31 दिसंबर को शाम चार बजे तक 59 लाख ऑनलाइन आवेदन जमा किये जा सके थे। जमा किये गए ई-चालानों की संख्या के सापेक्ष 4.5 लाख ऑनलाइन आवेदन और किये जाने बाकी थे। उधर सर्वर पर अचानक लोड बढ़ने से ऑनलाइन आवेदन करने में अभ्यर्थियों को दिक्कत हो रही थी। अभ्यर्थियों की दिक्कतों के मद्देनजर शासन को यह फैसला करना पड़ा।

UPTET पुराने आवेदकों की वापस होगी फीस:

  • शिक्षक भर्ती : डायट से आवेदकों को खुद जाकर लेना होगा चेक

लखनऊ। राज्य सरकार शिक्षक भर्ती के पुराने आवेदकों के पैसे वापस करने जा रही है। इसके लिए आवेदन करने वालों को जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) पर स्वयं जाना होगा। वहां पर उसे फार्म के साथ लगाए गए डिमांड ड्राफ्ट की फोटो कॉपी दिखाने के बाद ही चेक दिया जाएगा। प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा सुनील कुमार ने इस संबंध में राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) को निर्देश दे दिया है। इसके आधार पर एससीईआरटी शीघ्र ही विज्ञापन प्रकाशित कराने की तैयारी में है। आवेदकों को चेक लेने की तारीख अभी 2 से 5 जनवरी 2013 के बीच रखी गई है, लेकिन इसमें परिवर्तन भी हो सकता है। उधर, पुराने आवेदन को मान्य करने संबंधी हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ विशेष अपील करने पर सहमति बन गई है।
बेसिक शिक्षा विभाग ने दिसंबर 2011 में 72 हजार 825 शिक्षकों के पदों पर भर्ती का विज्ञापन निकाला था। उस समय पांच जिले में आवेदन करने की छूट दी गई थी। पहले पांच जिलों के लिए अलग-अलग बैंक ड्राफ्ट लगाने थे, लेकिन हाईकोर्ट के आदेश पर एक जिले में मूल ड्राफ्ट लगाने के बाद शेष चार जिलों में ड्राफ्ट की फोटो कापी लगाने की छूट दे दी गई थी। उस समय करीब 7 लाख आवेदकों ने फार्म भरे थे, लेकिन इसमें से करीब 2.75 लाख छात्रों के बैंक ड्राफ्ट ही बैंकों से कैश कराए गए थे। शिक्षक भर्ती प्रक्रिया विवादों के चलते उस समय पूरी नहीं हो पाई थी। राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा (15वां संशोधन) नियमावली जारी करने के बाद उक्त विज्ञापन को रद्द कर दिया था।
प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा ने इस संबंध में सबसे पहले 31 अगस्त 2012 को आवेदकों के पैसे वापस करने के निर्देश दिए थे। एससीईआरटी द्वारा पैसे वापस न किए जाने पर प्रमुख सचिव ने इस संबंध में निदेशक को पुन: आवेदकों के पैसे वापस करने का निर्देश दिया। इसके आधार पर एससीईआरटी शीघ्र ही विज्ञापन प्रकाशित कराने जा रहा है। इसमें शिक्षक भर्ती के लिए पुराने आवेदनकर्ता 2 से 5 जनवरी के बीच अपने जिले के डायटों पर जाकर शुल्क वापस ले सकते हैं। डायटों से आवेदकों को एकाउंटपेयी चेक के माध्यम से भुगतान किया जाएगा।
ई-चालान भरने का आज अंतिम मौका
लखनऊ (ब्यूरो)। शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन करने वाले ई-चालान शुक्रवार तक ही बनवा सकते हैं। ई-चालान बनवाने के दो दिन बाद शिक्षक भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन किए जा सकते हैं। बेसिक शिक्षा विभाग ने इसके लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर निर्धारित कर रखी है इसलिए ई-चालान बनवाने के लिए अंतिम दिन बैंकों में अच्छी-खासी भीड़ होने की संभावना है। बेसिक शिक्षा विभाग के मुताबिक, शिक्षक भर्ती के लिए प्रतिदिन छह से सात लाख आवेदक फार्म भर रहे हैं।
प्रदेश में मौजूदा समय 72 हजार 825 शिक्षकों की भर्ती के लिए आवेदन प्रक्रिया चल रही है। यूपी में पहली बार शिक्षक भर्ती के लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से ई-चालान बनवाकर ऑनलाइन आवेदन की अनिवार्यता की गई है। ई-चालान बनवाने के दो दिन बाद ही ऑनलाइन आवेदन किए जा सकते हैं। बेसिक शिक्षा विभाग ने इस बार पूरे प्रदेश में आवेदन की छूट दे रखी है। सामान्य वर्ग के लिए 500 रुपये शुल्क है इसलिए सर्वाधिक रिक्त पद वाले जिलों में आवेदन करने वालों की होड़ मची हुई है। खास बात यह है कि पूरे प्रदेश में एक ही समय पर मेरिट लिस्ट में आने वालों को काउंसलिंग के लिए बुलाया जाएगा।

News Update: Amar Ujala

UPTET राज्य सरकार ने शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में भारतीय पुनर्वास परिषद से बीएड (विशेष शिक्षा) और डीएड (विशेष शिक्षा) करने वालों को भी शामिल करने का निर्णय किया है। - 

•डीएड विशेष शिक्षा वालों को भी मिलेगा मौका
•पुराने आवेदकों पर न्याय विभाग से मांगी गई राय

प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा सुनील कुमार ने इस संबंध में संशोधित शासनादेश जारी कर दिया है। शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में पुराने आवेदकों को शामिल करने संबंधी हाईकोर्ट के आदेश पर न्याय विभाग से राय मांगी गई है।
प्रदेश में 72 हजार 825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन लिए जा रहे हैं। प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा की ओर से 5 दिसंबर को जारी शासनादेश में टीईटी पास स्नातक और बीएड वालों को ही पात्र माना गया। जबकि राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद की ओर से जारी अधिसूचना में बीएड (विशेष शिक्षा) और डीएड (विशेष शिक्षा) को भी शिक्षक बनने के लिए पात्र माना गया है। हाईकोर्ट ने अलका मिश्रा की ओर से दाखिल याचिका के आधार पर सरकार से इन दोनों डिग्रीधारकों को भी शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में शामिल करने का आदेश दिया।
प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा ने इसके आधार पर विभागीय अधिकारियों की बैठक बुलाई थी। बैठक में राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद की अधिसूचना के आधार पर बीएड (विशेष शिक्षा) और डीएड (विशेष शिक्षा) डिग्रीधारकों को शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में शामिल करने का निर्णय किया गया। इसके अलावा दिसंबर 2011 में शिक्षक भर्ती प्रक्रिया के लिए आवेदन करने वालों को मान्य करने संबंधी हाईकोर्ट के आदेश पर न्याय विभाग की राय मांगी गई है।

News Source: Amar Ujala

UPTET सहायक अध्यापक भर्ती के अभ्यर्थियों को राहत:

इलाहाबाद :  हाईकोर्ट ने सहायक अध्यापक भर्ती के मामले में अभ्यर्थियों को राहत दी है। कोर्ट ने कहा कि अभ्यर्थियों ने दिसंबर 2011 में निकाले गए विज्ञापन के क्रम में जिन जिलों के लिए आवेदन किया था उन जिलों में फिर से फाॅर्म भरने की आवश्यकता नहीं है। न ही शुल्क देना होगा। यदि कोई अभ्यर्थी इस बार और अधिक जिलों के लिए आवेदन करना चाहता है तो उसे नए जिलों में सरकार की मौजूदा नीति के अनुसार आवेदन करना होगा। कोर्ट ने कहा है कि अभ्यर्थी पहले किए गए आवेदन का ब्यौरा 31 दिसंबर तक निदेशक राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण केंद्र लखनऊ (एससीईआरटी) को भेज दें।
कोर्ट ने एससीईआरटी को निर्देश दिया है कि वह अभ्यर्थियों का ब्यौरा तैयार करे। न्यायालय ने अभ्यर्थियों द्वारा उठाए गए अन्य तमाम मुद्दों पर सुनवाई के लिए नौ जनवरी 2013 की तिथि नियत की है। अगली तारीख पर महिला-पुरुष श्रेणी, आयु सीमा मामले और टीईटी को मेरिट मानने आदि मुद्दों पर सुनवाई होनी|

News Source: Amar Ujala

UPTET Online fee Deposit Link Given By SBI India: SBI ME ONLINE FEES DEPOSIT KI JA SAKTI HAI,, ITS A BETTER OPTION TO AVOID PROBLEM,,, LINK IS GIVEN TO YOU …..

Use This One Link: https://www.onlinesbi.com/prelogin/icollecthome.htm

UPTET क्या कम किया जाएगा शिक्षक भर्ती का आवेदन शुल्क:

- हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा, आज फिर होगी सुनवाई

- ट्रेजरी चालान से शुल्क जमा करने की तिथि बढ़ाने का मामला भी उठा

जागरण ब्यूरो, इलाहाबाद : टीईटी मामले की सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने सरकार से पूछा है कि क्या शिक्षक भर्ती के आवेदन शुल्क में कमी की जाएगी। अदालत ने यह भी पूछा है कि यह भी जानना चाहा है कि कम समय को देखते हुए ट्रेजरी चालान से शुल्क जमा करने की तिथि बढ़ाएगी तथा आयु सीमा में छूट देने पर विचार करेगी। अदालत शुक्रवार को भी इस मामले की सुनवाई करेगी। हाईकोर्ट में टीईटी मामले की सुनवाई लगातार दूसरे दिन जारी रही।

अखिलेश त्रिपाठी व अन्य अभ्यर्थियों की याचिका की लगातार दूसरे दिन सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति अरुण टंडन ने सवाल खड़े किए। इस दौरान पहले के शिक्षक भर्ती में जमा आवेदन शुल्क का मामला भी उठा। अदालत ने स्थायी अधिवक्ता से जानना चाहा कि क्या सरकार उन अभ्यर्थियों जिन्होंने विभिन्न जिलों में पहले फीस जमा की है क्या उसे समायोजित करेगी और नए जिले में आवेदन करने पर ही फीस देनी होगी। उन्होंने यह भी कहा कि क्या सरकार फीस में भी कमी करेगी।

गौरतलब है कि सरकार ने इससे पहले शिक्षक भर्ती में पांच जिलों में आवेदन की छूट प्रदान की थी जिसमें मामला हाईकोर्ट गया था तो यह व्यवस्था तय की गई थी कि एक ही चालान सभी जिलों में मान्य होगा। बाद में सरकार ने अन्य जिलों के आवेदन शुल्क वापस करने की घोषणा की थी। यह आवेदन शुल्क अभी तक वापस नहीं किया गया है। हाल ही में निकाले गए शिक्षक भर्ती के विज्ञापन में सभी जिलों में आवेदन की व्यवस्था की गई है और हर जिले के लिए अभ्यर्थी को आवेदन शुल्क जमा करना अनिवार्य किया गया है।

News Source: Danik Jagran

टीईटी में फर्जीवाड़ा पकड़े गए जाली अंकपत्र:

जालसाजों ने फर्जी वेबसाइट तैयार कर जारी कर दिए फर्जी अंकपत्र

इलाहाबाद। शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के परिणाम में नए सिरे से फर्जीवाड़े का खेल सामने आया है। जालसाजों ने यूपीटीईटी की फर्जी वेबसाइट बनाकर पूरा रिजल्ट मनमानी जारी कर दिया है। शिक्षक भर्ती का आवेदन कर रहे हजारों युवकों ने वेबसाइट से अंकपत्र डाउनलोड किए तो उनके होश उड़ गए। बड़ी संख्या में पास अभ्यर्थी फेल दिखाए गए जबकि हजारों फेल अभ्यर्थियों को पास दिखा दिया गया। पास अभ्यर्थी नई मार्कशीट लेकर बोर्ड पहुंचे तो गड़बड़ी का खुलासा हुआ। यूपी बोर्ड का कहना है कि टीईटी की वेबसाइट लॉक है और कई महीनों से उस पर कुछ भी अपडेट नहीं किया गया। वेबसाइट फर्जी है। जांच के बाद अब बोर्ड एफआईआर कराने की तैयारी में है।
जांच में सामने आया कि शिक्षक भर्ती विज्ञापन जारी होने के बाद जालसाजों ने यूपीटीईटी 2011 डाट कॉम नाम से फर्जी वेबसाइट तैयार कर जाली अंकपत्र डाउनलोड कर दिए। एक हजार से अधिक अभ्यर्थियों ने शिकायत दर्ज कराई है कि पहले वह पास थे लेकिन वर्तमान में वेबसाइट पर फेल दिखा रहा है जबकि बड़ी संख्या में फेल अभ्यर्थी पास हो गए। बोर्ड के सचिव उपेंद्र कुमार ने साफ किया कि 2011 में उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) का परीक्षाफल जो बोर्ड की वेबसाइट यूपी टीईटी 2011 डॉट कॉम पर उपलब्ध कराया गया था, यह वेबसाइट वर्तमान में बंद कर दी गई है। बोर्ड की ओर से इस समय टीईटी का अंकपत्र किसी भी वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। उन्होंने स्पष्ट किया कि किसी अन्य वेबसाइट से टीईटी का डाउनलोड किया परीक्षाफल पूर्णतया फर्जी है।
फर्जी वेबसाइट के जरिए डाउनलोड अंकपत्र लेने वाले परीक्षार्थी पर कोई कानूनी कार्रवाई होती है तो परीक्षार्थी इसके लिए स्वयं जिम्मेदार होगा। सचिव ने बताया कि वह फर्जीवाड़ा करने वालों के खिलाफ एफआईआर कराएंगे।
टीईटी परीक्षा मानकों में संशोधन की वैधता को चुनौती
लखनऊ। हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ ने प्रदेश में शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) संबंधी मानकों में किए गए संशोधन के संबंध में राज्य सरकार से 4 सप्ताह में जवाब मांगा है। जस्टिस शबीहुल हसनैन ने यह आदेश टीईटी के मानकों में 4 दिसंबर को किए गए 16वें संशोधन की वैधता को चुनौती देने वाला रिट पर दिया। हालांकि राज्य सरकार ने इस याचिका का विरोध किया है। याची का कहना था कि टीईटी के मानकों में बुनियादी नियमों के अनुरूप संशोधन किए जाने चाहिए थे, जो नहीं किए गए। ऐसे में संशोधन खारिज किए जाने योग्य है। दरअसल टीईटी के लिए शैक्षिक योग्यता में संशोधन करते हुए सभी बोर्ड के लिए एक पैमाना बना दिया गया। इससे यूपी बोर्ड के छात्रों को काफी नुकसान होगा। जबकि अन्य बोर्डों की तुलना में यूपी बोर्ड के छात्र अधिक योग्य होने के बावजूद कम अंक पाते हैं। इससे सभी बोर्डों के अभ्यर्थियों के लिए एक शैक्षिक पैमाना रखने से कानून के समक्ष समानता का सिद्धांत प्रभावित होगा। इसी तरह उम्र सीमा में भी परिवर्तन आदि संबंधी किए गए संशोधनों पर भी सवाल याची ने उठाए हैं।

News Update: Amar Ujala

Districts level Seats in UPTET

UPTET : ‘…ऐसे तो साइंस वाले ही मार लेंगे बाजी’ -

कानपुर। शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में एक ही मेरिट लिस्ट जारी होने की घोषणा ने अभ्यर्थियों को चिंता में डाल दिया है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों का भी अनुमान है कि एक मेरिट लिस्ट होने से साइंस संकाय के अभ्यर्थियों का दबदबा बनेगा जबकि आर्ट्स के अभ्यर्थियों को लो रैंक पर आना पड़ सकता है।
प्राथमिक शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में पहली बार साइंस, आर्ट्स, म

हिला और पुरुष की एक ही मेरिट सूची बनाए जाने का आदेश आया है। इस निर्णय से अभ्यर्थियों में खलबली मच गई है। ‘अमर उजाला’ कार्यालय में सोमवार को दिनभर अभ्यर्थियों की कॉल आती रहीं। साकेत नगर निवासी रानी ने कॉल करके बताया कि साइंस में तो प्रेक्टिकल और स्कोरिंग सब्जेक्ट होते हैं। ऐसे में अच्छे नंबर होने पर उनकी मेरिट हाई जाएगी। वहीं, उन्नाव के अजय ने कहा कि महिला और पुरुष की एक सूची बनने से भी मेरिट में फर्क पड़ेगा। हर बार लड़कियों के अच्छे अंक रहते हैं और कही इसमें भी वे बाजी न मार जाएं। रावतपुर के राहुल ने कहा कि इस निर्णय से कई मेधावी इस बार टीचर बनने से वंचित रह जाएंगे। फैजाबाद के अमरेंद्र ने कहा कि हर वर्ग में मेधावी स्टूडेंट होते होता है। साइंस और आर्ट्स की कोई तुलना नहीं है।
फिर दोनों की मेरिट सूची एक करने का क्या मतलब। आवास विकास निवासी रामजी, महोबा के दिनेश, कारवालो नगर की प्रीति, बर्रा की कीर्ति, बिधनू के पुष्पेंद्र ने भी एक मेरिट लिस्ट पर चिंता जताई। वहीं, उप बेसिक शिक्षा अधिकारी डा. राम स्वरूप विश्वकर्मा ने कहा कि फिलहाल तो साइंस संकाय का ही मेरिट लिस्ट में दबदबे का अनुमान है। क्योंकि इसमें प्रेक्टिकल और स्कोरिंग सब्जेक्ट होते हैं। बाकी तो लिस्ट आने के बाद ही क्लियर होगा।
News Source: Amar Ujala
‘2011-12 में बीएड करने वालों का आवेदन मान्य’
कानपुर । वर्ष 2011-12 में बीएड में एडमिशन लेकर शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) देेने वाले अभ्यर्थी शिक्षक भर्ती में आवेदन कर सकते हैं। यह बात बेसिक शिक्षा सचिव आईपी शर्मा ने ‘अमर उजाला’ को आ रहीं सैकड़ों ‘पब्लिक कॉल’ के जवाब में कही। उन्होंने कहा कि टीईटी और बीएड पास करने वाले अभ्यर्थी शिक्षक भर्ती प्रक्रिया के लिए योग्य हैं। वहीं, सिविल लाइंस निवासी राधा ने से ‘अमर उजाला’ कार्यालय में फोन करके पूछा कि उन्होंने इग्नू से बीएड किया है। क्या वह शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन कर सकती हैं, इसके जवाब में आईपी शर्मा ने कहा कि वैसे रेगुलर बीएड मान्य है लेकिन फिर भी वेबसाइट में जाकर शासनादेश देख लें। यही बात उन्होंने निवास और आय प्रमाण पत्र के बारे में भी कही। महोबा से जितेंद्र सिंह ने पूछा कि गलती से आपराधिक रिकार्ड पर यस क्लिक हो गया और फार्म सबमिट हो गया है। इस पर उन्होंने कहा कि यह फार्म कैंसल हो जाएगा, अब दोबारा फार्म भरना होगा। अगर काउंसिलिंग के समय इसे बारे में पूछा जाए तो अपनी समस्या बता दें। वहीं, फजलगंज से आए महेंद्र ने पूछा कि बीएड में 672 नंबर थे लेकिन फार्म पर 72 लिख दिया है। इस पर आईपी शर्मा ने कहा कि नया आवेदन करें, मान्य होगा।
•शिक्षक भर्ती में एक ही मेरिट लिस्ट पर अभ्यर्थियों ने जताई चिंता
•आर्ट्स के अभ्यर्थियों को लो रैंक पर आना पड़ सकता है
News Source: Amar Ujala

UPTET : New Advertiseent For Recruitment:

बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में 72 हजार 825 प्रशिक्षु शिक्षकों की सीधी भर्ती प्रक्रिया 7 दिसंबर से शुरू कर 31 मार्च 2013 तक पूरी कर ली जाएगी। भर्ती के लिए विज्ञापन 7 दिसंबर को प्रदेश के सभी जिलों में एक साथ प्रकाशित होंगे और 9 दिसंबर से आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। आवेदन लेने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर है। आवेदन ऑनलाइन लिए जाएंगे और इसके वेबसाइट की सूचना भर्ती के लिए प्रकाशित होने वाले विज्ञापन के साथ दी जाएगी। शिक्षक बनने के लिए 21 से 40 वर्ष की उम्र वाले पात्र होंगे। आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को पांच वर्ष और विकलांगों को आयु सीमा में 10 वर्ष की छूट दी जाएगी। प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा सुशील कुमार ने इस संबंध में बुधवार को शासनादेश जारी कर दिया है।

Recruitment Schedule

  • Date of Advertisement Notification – 7 December, 2012
  • Starting Date to deposit E-Challans – 7 December, 2012
  • Starting Date to Apply Online ( Online Application ) – 9 December, 2012
  • Last Date to Apply For the Recruitment – 31 December, 2012
  • Merit List will be published on – 15 January, 2013
  • Counselling of Selected Candidates – 21 January, 2013
  • Documents Verification & Medical Examination – With in 30 days
  • Posting of the candidates, finally selected – With in 2 Days After Documents Verification
आवेदन भरने की अंतिम तिथि – 31 दिसंबर
.ऑनलाइन ई-चालान जमा होंगे – 7 दिसंबर से
•ऑनलाइन ई-आवेदन जमा होंगे चालान जमा
•मेरिट लिस्ट का प्रकाशन वेबसाइट पर – 15 जनवरी 2013
•चयनित अभ्यर्थियों की काउंसलिंग – 21 जनवरी से
•प्रमाण पत्रों का सत्यापन एवं मेडिकल – 30 दिन के अंदर
•चयनितों को तैनातीप्रमाण पत्र सत्यापन और मेडिकल के दो दिन बाद
How To Apply : -
आवेदन ऐसे करें
आवेदन करने से पहले भारतीय स्टेट बैंक से सचिव उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद इलाहाबाद के नाम से ई-चालान बनवाना होगा। निर्धारित शुल्क जमा करने के दो बैंकिंग कार्यदिवस के बाद ऑनलाइन आवेदन किए जा सकेंगे। ई-आवेदन पत्र भरने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसमें जो सूचनाएं अंकित की जाएंगी, उसमें विभिन्न परीक्षाओं के अंकों का उल्लेख करना होगा। आरक्षण, विशेष आरक्षण का दावा चयन समिति के समक्ष काउंसलिंग के दौरान करना होगा।
How To Apply : -
आवेदन ऐसे करें
आवेदन करने से पहले भारतीय स्टेट बैंक से सचिव उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद इलाहाबाद के नाम से ई-चालान बनवाना होगा निर्धारित शुल्क जमा करने के दो बैंकिंग कार्यदिवस के बाद ऑनलाइन आवेदन किए जा सकेंगे। ई-आवेदन पत्र भरने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसमें जो सूचनाएं अंकित की जाएंगी, उसमें विभिन्न परीक्षाओं के अंकों का उल्लेख करना होगा। आरक्षण, विशेष आरक्षण का दावा चयन समिति के समक्ष काउंसलिंग के दौरान करना होगा।

परिषदीय प्राथमिक विघालयों में प्रशिक्षु शिक्षक के पद पर बी0एड योग्‍यताधारी एवं टी0ई0टी0 उत्‍तीर्ण अभ्‍यर्थियों के नियुक्ति हेतु आनलाइन आवेदन प्रणाली

जनपदवार रिक्तियों की संख्या
1. अमेठी 2. अम्बॆडक‌र न‌ग‌र 3. अमरोहा 4. अलीगढ 5. आगरा
6. आजमगढ 7. इटावा 8. इलाहाबाद 9. उन्नाव 10. एट
11. औरय्या 12. कन्नौज 13. कुशीनगर 14. कानपुर देहात 15. कानपुर नगर
16. कासगंज 17. कौशाम्बी 18. गाजियाबाद 19. गाजीपुर 20. गोंडा
21. गोरखपुर 22. गौतम बुद नगर 23. चन्दौली 24. चित्रकूट 25. जालौन
26. जौनपुर 27. झांसी 28. देवरिया 29. प्रतापगढ 30. पीलीभीत
31. फैज़ाबाद 32. फतॆहपुर 33. फर्रूखाबाद 34. फिरोजाबाद 35. ब‌लरामपुर
36. बदायूँ 37. बरेली 38. बुलन्दशहर 39. बलिया 40. बस्ती
41. बह‌राइच 42. बागपत 43. बाँदा 44. बाराबंक 45. बिजनौर
46. मऊ 47. मुजफफरनगर 48. मथुरा 49. मैनपुरी 50. मेरठ
51. मुरादाबाद 52. महाराज गंज 53. महॊबा 54. मिर्ज़ापुर 55. रामपुर
56. रायबरेली 57. लखनऊ 58. लखीमपुर 59. ललितपुर 60. वाराणसी
61. श्राव‌स्ती 62. शामली 63. शाहजहाँपुर 64.संत कबीर नगर 65. संत रविदास नगर
66. संभल 67. सुलतानपुर 68. सहारनपुर 69. सिध्दार्थनगर 70. सीतापुर
71. सॊनभद्र 72. हमीरपुर 73. हरदोई 74.हाथरस 75. हापुड़

Eligibility Conditions

The candidate must be eligible to apply for these vacancies; And the eligibility conditions are following .

Educational Qualification

You must have the following degrees -
  • Gradauation
  • B.Ed. ( Bachelor of Education )
And must be TET ( UPTET ) qualified
 1. 60% marks in TET Exam for General Category Candidates  .
2. 55% marks in TET Exam for reserved category candidates
प्रशिक्षु शिक्षक बनने के लिए स्नातक, बीएड के साथ कक्षा 1 से 5 तक के लिए आयोजित टीईटी व सीटीईटी पास करने वाले पात्र होंगे। इसके लिए टीईटी में 60 फीसदी अंक पाना अनिवार्य होगा। अनुसूचित जाति, जनजाति, विकलांग तथा पिछड़ा वर्ग के लिए 55 प्रतिशत अंक पाना अनिवार्य होगा। उत्तर प्रदेश में लगातार पांच वर्षों से निवास करने वाले ही आवेदन के लिए पात्र होंगे। आवेदक को काउंसलिंग के दौरान चयन समिति के समक्ष निवास प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा जो आवेदन की तिथि से पहले बना हुआ हो।
Age Limitation
The age of the candidate is limited from 21 to 40 years . A maximum relaxation of 5 years is available for reserved categories and 10 years for physically handicapped (PH) candidates .
शिक्षक बनने के लिए 21 से 40 वर्ष की उम्र वाले पात्र होंगे। आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को पांच वर्ष और विकलांगों को आयु सीमा में 10 वर्ष की छूट दी जाएगी। प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा सुशील कुमार ने इस संबंध में बुधवार को शासनादेश जारी कर दिया है।

UPTET : जरूरत 1500 की मिलेंगे 500 शिक्षक:

देवरिया। जिले के परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापकों की नियुक्ति की प्रक्रिया शुक्रवार से शुरू हो गई। नई नियुक्ति के बीएसए ने विज्ञापन भी जारी कर दिया। करीब 1500 शिक्षकों के रिक्त पदों के सापेक्ष जिले को केवल 500 शिक्षक ही मिलेंगे। इसके चलते नियुक्ति के बाद भी यहां टोटा बरकरार रहेगा। वहीं सीटें कम होने से टीईटी उत्तीर्ण आवेदकों में भी काफी निराशा है।
प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर काफी दिन से रस्साकसी चल रही थी। नए विज्ञापन का टीईटी पास बीएड डिग्रीधारकों को बेसब्री से इंतजार था। विज्ञापन जारी होने बाद केवल 500 की रिक्ति निकाले जाने के चलते एक तिहाई रिक्ति भी नहीं भर पाएगी। जिले में उत्तीर्ण करीब 13000 टीईटी उत्तीर्ण आवेदक मेरिट के आधार पर होने वाली नियुक्ति को लेकर अपना जोड़ घटाना बैठाना शुरू कर दिए हैं। पड़ोसी जनपद कुशीनगर में 4000 शिक्षकों के लिए विज्ञापन जारी होने से अब जिले के अधिकांश आवेदकों की नजरें कुशीनगर की तरफ हैं। इसके लिए सुबह से ही साइबर कैफे पर आवेदन करने वाले आवेदकों की भीड़ लगने लगी। बीएसए एमए अंसारी ने विज्ञापन जारी करने के बाद जनपदीय चयन समिति के लिए प्रस्ताव सीडीओ को भेज दिया। चयन समिति में डायट प्राचार्य को अध्यक्ष तथा बीएसए को पदेन सचिव रखा गया है। इसके अलावा डीएम की तरफ से नियुक्त एक प्रशासनिक अधिकारी तथा राजकीय कस्तूरबा बालिका इंटर कॉलेज के प्राचार्य को सदस्य बनाया गया है। इस संबंध में बीएसए ने बताया कि 31 दिसंबर तक ऑनलाइन आवेदन लिए जायेंगे। शिक्षकों की रिक्ति की सूचना पहले ही भेज दी गई थी। उसी आधार पर विज्ञापन आया है। नियुक्ति के बाद यदि रिक्तियां रह जाती हैं तो इसकी भी सूचना भेजी जाएगी।
तीन माह का प्रशिक्षण होगा
शिक्षक पद के चयन के बाद शिक्षक बनने के लिए चयनित आवेदकों को तीन माह का प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह प्रशिक्षण जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान रामपुरकारखाना में होगा। प्रशिक्षण के समय हर माह 7,300 रुपये मानदेय के रूप में दिया जाएगा।

News Source: Amar Ujala (08/12/12)

UPTET: ऑनलाइन आवेदन 31 तक: 

लखनऊ : बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित प्राथमिक स्कूलों में अध्यापकों के 72,825 रिक्त पदों पर प्रशिक्षु शिक्षकों के चयन के लिए 31 दिसंबर की रात 12 बजे तक ऑनलाइन आवेदन किए जा सकेंगे। जिले में चयनित अभ्यर्थियों की मेरिट सूची 15 जनवरी को निर्दिष्ट वेबसाइट पर प्रदर्शित कर दी जाएगी। जिला स्तर पर होने वाले इस चयन के लिए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों द्वारा सात दिसंबर को विज्ञापन प्रकाशित कर दिये जाएंगे। विभाग ने चयन की प्रक्रिया तय करते हुए बुधवार को शासनादेश जारी कर दिया गया है। राज्य व केंद्र द्वारा आयोजित अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी/सीटीईटी) उत्तीर्ण बीएड डिग्रीधारक ही प्रशिक्षु शिक्षक के रूप में चयनित होंगे। अभ्यर्थियों की आयु एक जुलाई 2012 को न्यूनतम 21 वर्ष और 40 साल से अधिक नहीं होनी चाहिए। अभ्यर्थी को ऑनलाइन आवेदन के लिए सबसे पहले ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। रजिस्ट्रेशन के बाद ई-चालान से भारतीय स्टेट बैंक की जिले की किसी भी शाखा में सचिव, उप्र बेसिक शिक्षा परिषद, इलाहाबाद के पदनाम पर निर्धारित शुल्क जमा करना होगा। अभ्यर्थी सात दिसंबर से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर ई-चालान के जरिये शुल्क जमा कर सकते हैं। शुल्क जमा करने के दो बैंकिंग कार्यदिवस के बाद अभ्यर्थी द्वारा ऑनलाइन आवेदन किया जा सकेगा। सामान्य, पिछड़ा व अन्य वर्ग के अभ्यर्थियों को ऑनलाइन आवेदन के लिए 500 रुपये तथा एससी/एसटी के अभ्यर्थियों को 200 रुपये शुल्क जमा करना होगा। विकलांग अभ्यर्थियों को नि:शुल्क आवेदन करना होगा। चयन के लिए अभ्यर्थियों के हाईस्कूल के प्राप्तांक प्रतिशत के 10, इंटरमीडिएट के 20, स्नातक के 40 और बीएड के 30 प्रतिशत अंकों को जोड़कर गुणवत्ता अंक की गणना की जाएगी।

News Source: Jagran

राज्य सरकार ने बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में 72 हजार 825 प्रशिक्षु शिक्षकों की सीधी भर्ती को मंजूरी दे दी है:

राज्य सरकार ने बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में प्रशिक्षु शिक्षकों की सीधी भर्ती को मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) पास बीएड डिग्रीधारकों को 72 हजार 825 प्रशिक्षु अध्यापक के पद पर रखने का रास्ता साफ हो गया है।
इसके अलावा उच्च प्राथमिक स्कूलों मेंशिक्षकों के कुल पदों में 50 फीसदी को गणित व विज्ञान शिक्षकों की सीधी भर्ती के लिए आरक्षित कर दिया गया है। साथ ही, बेसिक शिक्षा परिषद से सहायता प्राप्त जूनियर हाई स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए टीईटी पास होना अनिवार्य कर दिया गया है। हालांकि भर्ती शासनादेश जारी होने के बाद ही शुरू होगी। कैबिनेट ने मोअल्लिम वालों को टीईटी से छूट देने पर सहमति जताई लेकिन मामले पर अंतिम फैसला मुख्यमंत्री पर छोड़ दिया।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई कैबिनेटकी बैठक में उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली 1981 में किए गए संशोधन की मंजूरी दे दी गई है। लेकिन विधान मंडल सत्र चलने के कारण सरकार ने इन फैसलों को सार्वजनिक नहीं किया।
शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू

 होने के बाद कक्षा 8 तक के स्कूलों में शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए रिक्त पदों पर टीईटी पास बीएड डिग्रीधारकों को प्रशिक्षु सहायक अध्यापक के पद पर सीधी भर्ती की व्यवस्था दी गई है। उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा नियमावली में शिक्षकों की सीधी भर्ती का प्रावधान नहीं था। इसके लिए नियमावली में संशोधन किया गया।
शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने के लिएबीटीसी पास अभ्यर्थियों की कमी है। इसलिए यूपी टीईटी और केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद नई दिल्ली द्वारा आयोजित टीईटी पास बीएड, बीएड (विशेष शिक्षा) व डीएड (विशेष शिक्षा) डिग्रीधारियों को प्रशिक्षु शिक्षक के पद पर होने वाली सीधी भर्ती के लिए पात्र मान लिया गया है। प्रशिक्षु शिक्षकों को 7300 रुपये नियत वेतनमान दिया जाएगा। इसके बाद चरणबद्ध तरीके से इन शिक्षकों को छह माह की ट्रेनिंग देकर सहायक अध्यापक के पद पर नियुक्ति दी जाएगी।
सरकार ने उच्च प्राथमिक स्कूलों में गणित और विज्ञान के शिक्षकों को रखने के लिए 50 फीसदी पदों को आरक्षित कर दिया है। इसके लिए उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली 1981 के 15वें संशोधन में यह व्यवस्था कर दीगई है। इसके मुताबिक उच्च प्राथमिक स्कूलों में विज्ञान एवं गणित के सहायक अध्यापकों के 50 प्रतिशत पदों पर तथा इसके अतिरिक्त विषयों में पदोन्नति के लिए पात्र शिक्षक उपलब्ध न होने के कारण इन पदों पर शिक्षकों की सीधी भर्ती की जाएगी। इसके लिए टीईटी पास बीएड, बीएड (विशेष शिक्षा) व डीएड (विशेष शिक्षा) डिग्रीधारी पात्र होंगे।
प्रक्रिया
शिक्षकों की भर्ती के लिए हाईस्कूल 10 प्रतिशत, इंटरमीडिएट 20, स्नातक 40 और बीएड को 30 प्रतिशत गुणांक मानते हुए मेरिट बनाई जाएगी। इसके लिए जिलेवार ऑनलाइन आवेदन लिए जाएंगे। इस संबंध में शीघ्र ही शासनादेश जारी करने की तैयारी है। प्रदेश में 1.60 लाख प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलें हैं। प्राथमिक स्कूलों में 3 लाख, 86 हजार, 726 तथा उच्च प्राथमिक स्कूलोें में 1 लाख 58 हजार पद स्वीकृत हैं। पर मौजूदा समय मात्र 2 लाख, 86 हजार, 787 शिक्षक कार्यरत हैं और 2 लाख, 57 हजार 939 पद रिक्त हैं।
Source: Amar Ujala

Over 7 lakh teaching posts under Sarva Shikhsa Abhiyan vacant:

NEW DELHI: Over seven lakh teaching posts sanctioned under the Sarva Shiksha Abhiyan are vacant across the country, the Human Resource Development ministry today said.

“Under the Sarva Shiksha Abhiyan, a total of 19.82 lakh teacher posts have been sanctioned till 2012-13 since inception, against which 12.48 lakh teachers have been recruited by states/UTs, leaving 7.34 lakh vacancies,” Minister of state in the HRD ministryShashi Tharoor said.

“In addition, the states/UTs have reported 5,65,905 vacancies up to March 2012 against teacher posts borne on the state budget,” he said in response to a question in Rajya Sabha…

News: The Economic Times

72 हजार प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती को आज मंजूरी

जागरण ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंगलवार को 11 बजे से कैबिनेट की बैठक बुलायी है। बैठक में परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में रिक्त 72,825 पदों पर प्रशिक्षु शिक्षकों को नियुक्त करने के लिए उप्र बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली 1981 में संशोधन के प्रस्ताव को मंजूरी मिल सकती है। प्रस्ताव के मुताबिक प्रशिक्षु शिक्षकों के प्रारंभिक शिक्षाशास्त्र में छह महीने का विशेष प्रशिक्षण पूरा करने के बाद उन्हें सहायक अध्यापक के पद पर स्थायी नियुक्ति दे दी जाएगी।

अशासकीय सहायताप्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति के लिए केंद्र या राज्य सरकार द्वारा आयोजित अध्यापक पात्रता परीक्षा सीटीईटी/टीईटी को अनिवार्य करने के लिए उप्र मान्यताप्राप्त बेसिक स्कूल (जूनियर हाईस्कूल अध्यापकों की भर्ती और सेवा की शर्तें) नियमावली 1978 में भी संशोधन का प्रस्ताव कैबिनेट के अनुमोदन के लिए प्रस्तुत किया जाएगा। अशासकीय सहायताप्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को समयबद्ध तरीके से संपन्न करने का संशोधन भी प्रस्तावित है। नि:शुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत निजी स्कूलों की पहली कक्षा की 25 फीसदी सीटों पर शैक्षिक व सामाजिक रूप से पिछड़े वर्गों के बच्चों को प्रवेश दिलाने के मकसद से अलाभित समूह व दुर्बल आय वर्ग की परिभाषाओं पर भी कैबिनेट की मुहर लगवाने की तैयारी है

7 दिसम्बर तक 72825 प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती करे यूपी सरकार: हाईकोर्ट

इलाहाबाद. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को प्रदेश में 72825 प्राथमिक शिक्षकों के पदों के लिए 7 दिसम्बर तक विज्ञापन जारी कर नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू करने का आदेश दिया है। कोर्ट में याचिकाकर्ताओं का आरोप था कि सरकार इस मामले को 2014 चुनाव तक ले जाकर इसका चुनावी लाभ लेने की फ़िराक में है।

गौरतलब है की इसके पहले मायावती सरकार इन पदों के लिए विज्ञापन निकाल कर भर्ती की प्रक्रिया शुरू की थी लेकिन सरकार बदलने के बाद से भर्ती की प्रक्रिया खटाई में पड़ गयी। मायावती सरकार ने विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश में शिक्षक पात्रता परीक्षा कराके 30 नवम्बर 2011 को 72825 प्राथमिक शिक्षकों के पदों के लिए विज्ञापन जारी किया था लेकिन मामला कोर्ट में पहुँचने के चलते भर्ती पूरी नहीं हो पायी।

News Source – Amar Ujala

बीएड डिग्रीधारी कर सकेंगे आवेदन: 72,825 शिक्षकों की नियुक्ति का मामला शैक्षिक मेरिट के आधार पर होगा चयन

इलाहाबाद। बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में प्रस्तावित 72,825 नये बीएड डिग्रीधारी शिक्षकों की नियुक्ति का रास्ता साफ हो गया है। दिसम्बर 2012 से टीईटी उत्तीर्ण बीएड डिग्रीधारी अभ्यर्थियों से ऑन लाइन आवेदन मांगे जायेंगे। इनका चयन शैक्षिक मेरिट के आधार पर ही किया जायेगा। उसके बाद उन्हें 6 माह का विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षण देकर नियमिति अध्यापक केरूप में नियुक्ति दी जायेगी। प्रशिक्षण अवधि में इन्हें 7300 रुपये प्रतिमाह मानदेय दिया जायेगा। स्थायी नियमित मौलिक नियुक्ति के बाद स्थायी शिक्षक का वेतनमान मिलने लगेगा। यह निर्णय पिछले गुरुवार एक नवम्बर को बेसिक शिक्षामंत्री रामगोविन्द चौधरी की अध्यक्षता में विभाग के शीर्ष अधिकारियों की हुई बैठक में लिया गया है। बैठक में यह भी तय हुआ है कि टीईटी उत्तीर्ण बीएड डिग्रीधारकों का प्रशिक्षु शिक्षक के तौर पर चयन करने के लिए अभ्यर्थियों के हाईस्कूल केप्राप्तांक प्रतिशत के दस, इण्टरमीडिएट के20, स्नातक के40 व बीएड के30 प्रतिशत अंकों को जोड़कर मेरिट तैयार की जायेगी। इसके आधार पर ही चयनित अभ्यर्थियों को प्रशिक्षण का क्रम तय किया जायेगा। बेसिक शिक्षा विभाग इस व्यवस्था को लागू करने के लिए उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली 1981 में संशोधन करके परिषदीय स्कूलों में प्रशिक्षु शिक्षक नियुक्त करने और प्रशिक्षण देने के बाद उन्हें मौलिक नियुक्ति देने का प्राविधान जोड़ा जायेगा। यह कार्य नवंबर 2012 केअंत तक पूर्ण करने का निर्णय लिया गया है।

News Source: Amar Ujala…

Use This one link for registration: http://te-uttarpradesh.up.nic.in

इलाहाबाद (एसएनबी)। उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) की एक नहीं बल्कि दो परीक्षाएं वर्ष 2013 में होंगी। पहली परीक्षा जनवरी-फरवरी में होने की संभावना है जबकि दूसरी नवंबर-दिसम्बर 2013 में होगी। परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों के 72,000 रिक्त पदों के एवं बीटीसी के शीघ्र आने वाले विज्ञापन की वजह से टीईटी- 2012 का जो विज्ञापन प्रकाशित होने वाला था उसकी तिथि बढ़ गयी है। इसके नवंबर के दूसरे हफ्ते में प्रकाशित होने की संभावना है। उधर, सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी, एलनगंज, इलाहाबाद कार्यालय में परीक्षा की तैयारियां जोर-शोर से शुरू हो गयी है। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय में टीईटी की तैयारियां अब जोर पकड़ने लगी हैं। वह यूपी बोर्ड द्वारा टीईटी परीक्षा कराये जाने के दौरान हुई एक-एक खामियों की तरफ गंभीरता से ध्यान दे रही है। जिससे कि परीक्षा कराने के बाद कोई गड़बड़ी न रह जाये और किरकिरी हो। इसके लिए प्रश्नपत्रों की सहीं सेटिंग और उनके सही उत्तर, गलत नियम कानून को विज्ञापन से हटाना और अन्य प्रमुख सुधार हो रहा है। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी टीईटी प्रश्नपत्रों की सेटिंग के लिए शिक्षाविदों से राय एवं उनसे प्रश्नपत्र-उत्तर तैयार करवाने जा रहा है जिससे कि बाद में अभ्यर्थी कोई गड़बड़ी न निकाल सके। इसी गड़बड़ी की वजह से यूपी बोर्ड और शासन की फजीहत हुई थी और उसी में आज भी मामला फंसा हुआ है। इतना ही नहीं अन्य गंभीर खामियों को भी ठीक किया जा रहा है। अभ्यर्थियों से आवेदन पत्र लेने की बजाय आन लाइन आवेदन पत्र लिये जाने की तैयारियां अन्तिम दौर में चल रही हैं।

News Source: Jagran

जागरण ब्यूरो, लखनऊ : परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों के 72,825 पदों पर भर्ती के लिए होने वाले विशिष्ट बीटीसी चयन में उप्र बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली में निर्धारित व्यवस्था के आधार पर मेरिट बनायी जाएगी। शासन स्तर पर इस बारे में सहमति बनने के बाद अब इस प्रस्तावपर बेसिक शिक्षा मंत्री राम गोविंद चौधरी से मंजूरी ली जाएगी। उप्र बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली,

1981 में शिक्षकों की नियुक्ति के लिए मेरिट तय करने की जो व्यवस्था निर्धारित की गई है उसमें अभ्यर्थी को हाईस्कूल में मिले प्राप्तांक प्रतिशत के 10 प्रतिशत, इंटरमीडिएट में हासिल प्राप्तांक प्रतिशत के 20 प्रतिशत और स्नातक के 40 फीसदी अंश को अंकों के रूप में जोड़ा जाएगा। इसके अलावा यदि उसने बीएड की परीक्षा में थ्योरी और प्रैक्टिकल में प्रथम, द्वितीय और तृतीय श्रेणी हासिल की हो तो दोनों के लिए उसे क्रमश: 12, छह और तीन अंक दिये जाएंगे। प्रमुख सचिव सुनील कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई बैठक में यह तय हुआ कि शिक्षकों की भर्ती के संदर्भ में अभ्यर्थियों को छह महीने का विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षण देने के लिए जो चयन होगा उसकी मेरिट उप्र बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली के प्रावधान के अनुसार होगी। परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों के72,825 पदों पर बीएड डिग्रीधारकों की भर्ती के लिए पहले छह माह के विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षण के लिए उनका चयन किया जाएगा। विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षण पूरा करने के बाद नियुक्ति की प्रक्रिया अपनायी जाएगी। पूर्व के वर्षों में विशिष्ट बीटीसी चयन के लिए अभ्यर्थियों के हाईस्कूल, इंटरमीडिएट, स्नातक और बीएड परीक्षाओं में हासिल प्राप्तांक प्रतिशत को जोड़कर मेरिट बनायी जाती थी

UPTET – शिक्षकों की नियुक्ति से पूर्व ट्रेनिंग करने की चुनौती :

अक्टूबर से होगी एक लाख प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती:

इलाहाबाद : प्रदेश में लगभग एक लाख शिक्षकों की भर्ती का रास्ता साफ हो गया है। आठ अक्टूबर तक भर्ती संबंधी विज्ञापन जारी कर दिए जाएंगे। लखनऊ में आयोजित बेसिक शिक्षा विभाग के उच्च अधिकारियों की बैठक में यह निर्णय लिया गया है। बैठक में शामिल रहे मंडलीय सहायक बेसिक शिक्षा न
िदेशक महेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि सरकार का लक्ष्य है कि दिसंबर से पूर्व प्रदेश में शिक्षकों की भर्ती पूरी कर ली जाए।

लखनऊ में हुई बैठक में प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा समेत तमाम उच्च अधिकारी शामिल हुए। बैठक में तय हुआ कि इस बार भर्ती के लिए जिलेवार ऑनलाइन आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। इसके लिए विज्ञापन में वेबसाइट का नाम भी जारी किया जाएगा। वेबसाइट से चालान फार्म का प्रिंट आउट लेकर चालान जमा करना होगा। उसके बाद बाकी प्रक्रिया भी ऑनलाइन की जाएगी। चालान फार्म नंबर ही अभ्यर्थी की लॉग इन आइडी होगी। अभ्यर्थियों के आवेदन करने के बाद मेरिट सूची भी ऑनलाइन ही जारी की जाएगी। उर्दू भाषा के शिक्षकों के लिए आयोजित की जाने वाली दक्षता परीक्षा के लिए वेबसाइट पर ही प्रवेश पत्र भी जारी किए जाएंगे। प्रवेश पत्र में परीक्षा की तिथि और परीक्षा केंद्र का पता होगा। ऑनलाइन आवेदन की संभावित तिथि 22 अक्टूबर से 23 नवंबर है। शिक्षकों की भर्तियां उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा कर्मचारी चयन नियमावली 1980 के तहत की जाएंगी। इसी के तहत प्रदेश में अंतरजनपदीय तबादलों से आए शिक्षकों को भी तैनाती दी जाएगी।

अब समायोजन भी होगा ऑनलाइन

बेसिक शिक्षा विभाग के विवादित मसले समायोजन को विवाद मुक्त बनाने के लिए विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। अगले साल से ऑनलाइन आवेदन और समायोजन सूची जारी की जाएगी। गौरतलब है कि जिले में समायोजन के विवाद के चलते शिक्षकों और जिला बेसिक शिक्षा विभाग के बीच महीनों तनातनी रही। बेसिक शिक्षा निदेशक के निर्देश पर सचिव ने समायोजन से पूर्व की स्थिति बहाल करने की घोषणा की थी|

News Source : Jagran (29-09-12)

UPTET : सहायक अध्यापक भर्ती पर सरकार को और मोहलत:

इलाहाबाद। सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए विज्ञापन जारी करने हेतु हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार को और मोहलत दी है। अब इस मामले पर नौ अक्टूबर को सुनवाई होगी। प्रदेश सरकार द्वारा बृहस्पतिवार को प्रार्थनापत्र देकर और समय की मांग की गई जिसे हाईकोर्ट ने मंजूर कर लिया। याचिका पर न्यायमूर्ति अरुण टंडन सुनवाई कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि प्रदेश सरकार ने इससे पूर्व 72 हजार से अधिक शिक्षकों की भर्ती के लिए जारी विज्ञापन को रद कर दिया है। पिछली भर्ती के लिए टीईटी चयन को पात्रता का आधार बनाया गया था जिसे कई याचिकाओं के द्वारा चुनौती दी गई थी। सरकार ने नया विज्ञापन 15 दिन के भीतर जारी करने का निर्देश दिया था|

News Source : Amar Ujala (28.9.12)

UPTET : 72,825 प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती का मामला, यूपी सरकार से जवाब तलब:

प्रदेश में 72,825 प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती का मामला हाईकोर्ट पहुंच गया है। इन प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती संबंधी राज्य सरकार की 31 अगस्त की विज्ञप्ति को हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ में चुनौती दी गई है। कोर्ट ने इस मामले में राज्य सरकार से जवाब तलब किया है

याचिका में पिछली सरकार के दौरान निर्धारित नियमों के तहत प्राइमरी शिक्षकों की नियुक्ति किए जाने का आग्रह किया गया है। इस मामले में अगली सुनवाई एक अक्तूबर को होगी। न्यायमूर्ति अजय लांबा ने यह आदेश अरविंद कुमार सिंह व अन्य अभ्यर्थियों की याचिका पर दिया। कोर्ट ने सरकारी वकील को मामले में निर्देश प्राप्त कर पहली अक्तूबर को राज्य सरकार का पक्ष पेश करने को कहा है।

याचियों का कहना है कि सूबे की पिछली सरकार के दौरान 23/30 नवंबर 2011 को विज्ञापन के तहत इन प्राइमरी शिक्षकों का चयन टीईटी परीक्षा के प्राप्तांकों की मेरिट चयन प्रक्रिया अंतिम दौर में थी। लेकिन मौजूदा सरकार ने बेसिक शिक्षा कानून में संशोधन कर पहले जारी हो चुकी विज्ञप्तियों व आवेदनों को रद्द कर दिया। अब चयन का आधार शैक्षिक योग्यता के गुणांक को रखा गया है, जो उचित नहीं है।

याचियों ने कहा कि यह टीईटी जैसे प्रतियोगी परीक्षा के जरिए चयनित अभ्यर्थियों के हितों के खिलाफ है। उधर, राज्य सरकार की तरफ से याचिका का विरोध किया गया। साथ ही इस संबंध में निर्देश प्राप्त करने को समय दिए जाने का आग्रह किया गया। इस पर कोर्ट ने सरकार का पक्ष पेश करने के लिए समय देते हुए अगली सुनवाई एक अक्तूबर को तय की है
News Source : Amar Ujala (26.9.12)

UPTET : शिक्षकों की भर्ती भरेगी पूर्वांचल का घाव

बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित प्राथमिक स्कूलों में होने जा रहीं शिक्षकों की नियुक्तियां पिछड़े पूर्वांचल का घाव भरेंगी। परिषदीय स्कूलों में अध्यापकों की जबर्दस्त कमी का दंश ङोल रहे इस इलाके पर शिक्षकों की नियुक्ति के जरिये बेसिक शिक्षा विभाग ने नजर-ए-इनायत की है। परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में होने जा रहीं 72,825 शिक्षकों की नियुक्तियों में से 50 प्रतिशत से ज्यादा भर्तियां प्रदेश के इस सर्वाधिक पिछड़े इलाके में होंगी। वहीं जिलावार नियुक्तियों में मध्य उप्र के सीतापुर और लखीमपुर जिले पहले पायदान पर हैं जिनमें से प्रत्येक में 6000 भर्तियां होंगी। जिलों में सबसे कम भर्तियां गौतम बुद्ध नगर, गाजियाबाद, लखनऊ, कानपुर नगर में होंगी। परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में होने वाले शिक्षकों के चयन के संबंध में शासन ने निदेशक बेसिक शिक्षा को जिलावार रिक्तियों के आवंटन की अनुमोदित सूची उपलब्ध करा दी है। अनुमोदित सूची में इंगित रिक्तियों के आधार पर ही जिलों में शिक्षकों की नियुक्तियां होंगी। सूची के अनुसार सर्वाधिक 36,825 रिक्तियां पूर्वांचल के सात मंडलों में हैं। दूसरे नंबर पर मध्य उप्र है, जहां के तीन मंडलों में कुल 19,576 रिक्तियां हैं। पश्चिमी उप्र के छह मंडलों में 12,624 रिक्तियां हैं। वहीं बुंदेलखंड के दो मंडलों में 3800 रिक्तियां मंजूर की गई हैं। सर्वाधिक रिक्तियों के लिहाज से पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर क्रमश: लखनऊ, देवीपाटन और गोरखपुर मंडल हैं। लखनऊ मंडल में 16,264, देवीपाटन में 10,200 और गोरखपुर मंडल में 7500 रिक्तियां हैं। बरेली और वाराणसी मंडलों में से प्रत्येक में 6600 रिक्तियां हैं। मंडलवार अवरोही क्रम में मिर्जापुर में 3500, इलाहाबाद में 3400, बस्ती में 2900, आजमगढ़ में 2725, फैजाबाद में 2300, चित्रकूट व महोबा में से प्रत्येक में 2100, झांसी व सहारनपुर में से प्रत्येक में 1700, कानपुर में 1012, आगरा में 1000, अलीगढ़ में 900 और मेरठ में 324 रिक्तियां अनुमोदित की गई हैं

UPTET : शिक्षकों की भर्ती को आवेदन अगले माह

बेसिक शिक्षा परिषद के संचालित प्राथमिक स्कूलों में 85,556 शिक्षकों की भर्ती के लिए अगले माह विज्ञापन प्रकाशित किए जाएंगे। इनमें से 72,825 पद पर अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी)/केंद्रीय अध्यापक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) उत्तीर्ण बीएड डिग्रीधारक की नियुक्ति की जाएगी। जिन्हें चयन के बाद छह माह का विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा। वहीं 9820 पदों पर टीईटी/सीटीईटी उत्तीर्ण उन अभ्यर्थियों का चयन किया जाएगा जो बीटीसी 2004, विशिष्ट बीटीसी 2004-05, 2007 व 2008 व दो वर्षीय बीटीसी उर्दू प्रवीणताधारी प्रशिक्षण पूरा कर चुके हैं। इनके अलावा 2911 पदों पर 1997 से पहले मुअल्लिम-ए-उर्दू या अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) से डिप्लोमा इन उर्दू टीचिंग की उपाधि हासिल करने वाले अभ्यर्थियों को नियुक्ति दी जाएगी। मुअल्लिम-ए-उर्दू उपाधिधारकों और एमएयू से डिप्लोमा इन उर्दू टीचिंग की उपाधि हासिल करने वालों को टीईटी से छूट देने का मामला शासन स्तर पर विचाराधीन है। शिक्षक भर्ती प्रक्रिया पर चर्चा करने के लिए शनिवार को प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा सुनील कुमार की अध्यक्षता में शासन स्तर पर बैठक हुई। बैठक में शिक्षकों की भर्ती के लिए आठ अक्टूबर को विज्ञापन प्रकाशित करने की संभावित तिथि तय की गई। अभ्यर्थियों से ऑनलाइन आवेदन प्राप्त करने की अंतिम तिथि 10 नवंबर निर्धारित की गई है। ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि बीतने के बाद उर्दू शिक्षकों के पदों पर नियुक्ति के लिए निबंध की लिखित परीक्षा भी आयोजित होगी। 16 नवंबर को नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर (एनआइसी) जिलों में चयनित अभ्यर्थियों की मेरिट सूची प्रकाशित कर देगा। 23 नवंबर से बीटीसी 2004, विशिष्ट बीटीसी 2004-05, 2007, 2008 व दो वर्षीय बीटीसी उर्दू प्रवीणताधारी प्रशिक्षण पूरा कर चुके अभ्यर्थियों तथा मुअल्लिम-ए-उर्दू या एएमयू से डिप्लोमा इन उर्दू टीचिंग की उपाधि हासिल करने वाले अभ्यर्थियों की काउन्सिलिंग शुरू हो जाएगी। वहीं शिक्षकों के 72,825 पदों पर चयनित बीएड डिग्रीधारकों की काउन्सिलिंग तीन दिसंबर से शुरू होगी

News Source : Jagran (23.9.12)

बेसिक शिक्षा परिषद में टीईटी पास बीएड डिग्रीधारकों को रखने की प्रक्रिया पर शनिवार को मुहर लग सकती है।

लखनऊ। बेसिक शिक्षा परिषद में टीईटी पास बीएड डिग्रीधारकों को रखने की प्रक्रिया पर शनिवार को मुहर लग सकती है। प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा सुनील कुमार ने विभाग के अधिकारियों की बैठक बुलाई है। इसमें जिलेवार शिक्षकों की रिक्तियों का ब्यौरा रखने के साथ अन्य प्रक्रियाओं पर भी चर्चा की जाएगी। वहीं राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) निदेशालय में भी इसी दिन जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान

(डायट) प्राचार्यों की बैठक बुलाई गई है।
बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में 72 हजार 825 शिक्षकों को रखा जाना है। इन शिक्षकों की भर्ती की मंजूरी राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने दे दी है। प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा ने निदेशक बासुदेव यादव से शिक्षकों की जिलेवार रिक्तियां मांगी हैं। इसके बाद ही शिक्षकों की भर्ती के लिए विज्ञापन निकाला जाना है। बताया जाता है कि बेसिक शिक्षा परिषद ने जिलेवार रिक्तियों का ब्यौरा तैयार कर लिया है। इसे शनिवार को प्रमुख सचिव की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में रखा जाएगा। इसके बाद भर्ती का जिलेवार विज्ञापन निकाला जाएगा। राज्य सरकार इस बार शिक्षकों की भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन लेना चाहती है, ताकि कंप्यूटरीकृत रिकॉर्ड तैयार करने में अधिक समय न लगे और शीघ्र ही मेरिट निकाल कर भर्ती के लिए काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू कर दी जाए
Amar Ujala (21.9.12)

UPTET : शिक्षक भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन

लखनऊ : बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित स्कूलों में 72,825 शिक्षकों की भर्ती के लिए निकट भविष्य में शुरू होने वाली प्रक्रिया के तहत अभ्यर्थियों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। शासन स्तर पर इस बारे में सहमति बन चुकी है। उधर अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के आयोजन की जिम्मेदारी सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी इलाहाबाद को सौंपे जाने के प्रस्ताव को मुख्यमंत्री ने अनुमोदित कर दिया है। मंगलवार को प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा सुनील कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह तय हुआ कि परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए अभ्यर्थियों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इससे पूरी प्रक्रिया में पारदर्शिता बनी रहती है। साथ ही आवेदनों में धांधली की गुंजायश न के बराबर होती है। गौरतलब है कि राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने राज्य सरकार को बीएड उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को 31 मार्च 2014 तक शिक्षक नियुक्त करने के लिए समयसीमा में छूट दे दी है। उधर हाई कोर्ट ने भी शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया जल्द शुरू करने का निर्देश दिया है। ऐसे में शिक्षकों की नियुक्ति के लिए जल्द विज्ञापन जारी होने की संभावना है। शिक्षकों की नियुक्ति के लिए बेसिक शिक्षा विभाग जिलेवार रिक्तियों का ब्योरा इकट्ठा कर रहा है। अब यह भी तय हो गया है कि भविष्य में राज्य में टीईटी का आयोजन सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी इलाहाबाद करायेंगे। इस संबंध में राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) की ओर से भेजे गए प्रस्ताव को मुख्यमंत्री ने अनुमोदित कर दिया है। पिछले साल टीईटी का आयोजन यूपी बोर्ड ने किया था। टीईटी के परीक्षा परिणाम में धांधली उजागर होने पर मुख्य सचिव जावेद उस्मानी की अध्यक्षता में गठित उच्च स्तरीय समिति ने परीक्षा के आयोजन के लिए संस्था के चयन का भी बिंदु उठाया था। इस पर एससीईआरटी ने टीईटी के आयोजन की जिम्मेदारी सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी इलाहाबाद को सौंपने का प्रस्ताव भेजा था।

News Source: Danik Jagran (19/09/12)

UPTET : टीईटी  सरकार ने दिया हाईकोर्ट में आश्वासन

शीघ्र जारी होगा विज्ञापन

इलाहाबाद (ब्यूरो)। सूबे मेें टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थियों के सहायक अध्यापक पद पर चयन एवं नियुक्ति के लिए प्रदेश सरकार शीघ्र ही नया विज्ञापन जारी करेगी। मंगलवार को सरकार की ओर से हाईकोर्ट में बताया गया कि दिसंबर 2011 को जारी विज्ञापन रद करने के बाद सरकार शीघ्र ही नया विज्ञापन जारी कर परिषदीय स्कूलों में अध्यापकों के रिक्त पदों को भरेगी। याचिका पर सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने अध्यापकों के पद रिक्त होने पर अपनी चिंता जाहिर करते हुए कहा कि राज्य सरकार का दायित्व है कि वह पर्याप्त संख्या में शिक्षकों की नियुक्ति करे।
इससे पूर्व सहायक अध्यापकों की नियुक्ति के लिए जारी दिसंबर 2011 के विज्ञापन को चुनौती देने वाली
यादव कपिलदेव की याचिका हाईकोर्ट ने निष्क्रिय होने के आधार पर खारिज कर दी है। एक अन्य याची शिवप्रकाश कुशवाहा की याचिका पर सुनवाई के दौरान अपर महाधिवक्ता सीबी यादव ने न्यायालय को अवगत कराया कि सरकार बहुत शीघ्र नया विज्ञापन जारी कर पदों पर भर्ती की प्रक्रिया प्रारंभ कर देगी।
सरकार इस दिशा में लगातार प्रयासरत है। इससे पूर्व 2004, 2007 और 2008 में सहायक अध्यापकों की नियुक्ति की गई थी। इस दौरान टीईटी मामले को लेकर अन्य याचिकाओं पर भी सुनवाई
दौरान अपर महाधिवक्ता सीबी यादव ने न्यायालय को अवगत कराया कि सरकार बहुत शीघ्र नया विज्ञापन जारी कर पदों पर भर्ती की प्रक्रिया प्रारंभ कर देगी। सरकार इस दिशा में लगातार प्रयासरत है। इससे पूर्व 2004, 2007 और 2008 में सहायक अध्यापकों की नियुक्ति की गई थी। इस दौरान टीईटी मामले को लेकर अन्य याचिकाओं पर भी सुनवाई के लिए 27 सितंबर की तिथि नियत की गई है। एक अन्य याची रत्नेश कुमार पाल ने संशोधन प्रार्थनापत्र दाखिल कर दो सितंबर को प्रदेश सरकार द्वारा जारी अधिसूचना और विज्ञाप्ति को चुनौती दी है। दो सितंबर की अधिसूचना से सरकार ने दिसंबर 2011 को जारी विज्ञापन को रद कर दिया है। न्यायालय ने संशोधन प्रार्थनापत्र पर प्रदेश सरकार को दो सप्ताह में अपना जवाब दाखिल कर देने का निर्देश दिया है।

News Source : Amar Ujala (12.9.12)

UPTET : शिक्षकों की भर्ती शैक्षिक मेरिट से

लखनऊ। राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली 2012 को मंजूरी दे दी है। कैबिनेट की बैठक में लिए गए निर्णय के मुताबिक टीईटी को पात्रता परीक्षा मानते हुए शिक्षकों की भर्ती में शैक्षिक मेरिट से की जाएगी। भर्ती के लिए यूपी के साथ केंद्रीय बोर्ड से टीईटी पास करने वाले भी पात्र होंगे। बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में कार्यरत अध्यापकों के अंतरजनपदीय स्थानांतरण के संबंध में वर्तमान व्यवस्था में भी संशोधन कर दिया गया है। माया सरकार द्वारा नियमावली में सेवाकाल में केवल एक बार अंतरजनपदीय स्थानांतरण पाने की व्यवस्था को समाप्त करते हुए जरूरत के आधार पर तबादला लेने की व्यवस्था कर दी गई है। साथ ही उच्च प्राथमिक स्कूलों में विज्ञान व गणित के शिक्षकों की 50 फीसदी पदों पर सीधी भर्ती होगी और 50 फीसदी पद पदोन्नति से भरे जाएंगे। शिक्षकों की न्यूनतम आयु 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष कर दिया गया है।
बेसिक शिक्षा परिषद के एक लाख 60 हजार प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूल हैं। प्राथमिक स्कूलों में 1 लाख, 99 हजार, 571 पद और उच्च प्राथमिक स्कूलों में 58 हजार 668 पद खाली है। उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद (अध्यापक) सेवा नियमावली के आधार पर शिक्षकों की भर्ती एवं पदोन्नति की जाती है। शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद शिक्षकों की भर्ती को टीईटी पास अनिवार्य हो गया है। यूपी में नवंबर 2011 में टीईटी के आयोजन के साथ शिक्षकों की भर्ती के लिए उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद (अध्यापक) सेवा नियमावली में भी 15वां संशोधन कर दिया गया। इसमें भर्ती टीईटी मेरिट के आधार पर करने का प्रावधान कर दिया गया। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद ने टीईटी को केवल पात्रता परीक्षा माना है, इसलिए अखिलेश सरकार ने टीईटी को पात्रता परीक्षा मानने का निर्णय किया।
इसके आधार पर उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद (अध्यापक) सेवा नियमावली को संशोधित करते हुए शिक्षकों की भर्ती शैक्षणिक योग्यता के आधार पर प्रमुखता देने की व्यवस्था कर दी गई है।
News Posted By: Amar Ujala (28-08-12)
Note: Please aap sabhi comments karo…..

टीचर्स की भर्ती में ‘अपनों’ पर मेहरबानी! 

लखनऊ।। उत्तर प्रदेश माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद द्वारा संचालित स्कूलों में पिछले साल टीचर्स की भर्ती के साक्षात्कार में हुई धांधली की जांच में अपनों को ‘उपकृत’ करने के लिए पेंसिल से नंबर दिये जाने का मामला सामने आया है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया है कि शासन को अभ्यथिर्यो की शिकायत मिलने पर माध्यमिक शिक्षा सचिव पार्थ सारथी सेन शर्मा ने शिक्षा निदेशक वासुदेव यादव को इस धांधली की जांच के निर्देश दिये थे। इस मामले की जांच के लिए शिक्षा निदेशक ने जांच रिपोर्ट शासन को सौंप दी है।

शिक्षा निदेशक यादव ने अपनी जांच रिपोर्ट में कहा है कि अपने चहेतों को शिक्षक बनाने के लिए इंटरव्यू में अफसरों द्वारा पेंसिल से नंबर देने का मामला सही पाया गया है और शासन से आग्रह किया है कि संबंधित उत्तरदायी अधिकारियों का स्पष्टीकरण प्राप्त करने के बाद विधिसम्मत कार्यवाही की जाए। उन्होंने अपनी रिपोर्ट में यह भी कहा है कि अफसरों ने इंटरव्यू में पेंसिल से नंबर चढ़ाकर लिफाफा सील बंद नहीं किया। साक्षात्कार समिति में सभापति एवं तत्कालीन संयुक्त शिक्षा निदेशक के. के. गुप्ता एवं 7 सदस्य थे। रिपोर्ट में सदस्यों ने कहा है कि उन्होंने गुप्ता के मौखिक आदेश पर अभ्यर्थियों को पेंसिल से नंबर दिए थे ताकि बाद में पसंदीदा अभ्यर्थियों को नंबर घटा बढ़ाकर ‘उपकृत’ किया जा सके।

जांच रिपोर्ट में समिति के एक सदस्य उपेन्द्र कुमार मिश्र ने कहा कि उपस्थित सभी सदस्य गुप्ता के निर्देश पर पेंसिल से ही नंबर दे रहे थे इसलिए उन्होंने भी अन्य सदस्यों की तरह पेंसिल से नंबर दिये थे। उन्होंने यह भी कहा कि मैं नहीं जानता कि पेंसिल से नंबर क्यों दिलवाये जा रहे थे, मैंने और अन्य सदस्यों ने संयुक्त शिक्षा निदेशक का आदेश माना। पेंसिल से नंबर क्यों दिए गए इसका जवाब गुप्ता ही दे सकते हैं। गौरतलब है कि पिछले साल उत्तर प्रदेश माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद के लखनऊ मंडल संचालित संस्कृत स्कूलों में 12 प्राधानाध्यापक, चार साहित्य शिक्षक, 14 व्याकरण शिक्षक, 15 आधुनिक शिक्षक सहित कुल 45 पदों पर नियुक्ति के लिए 2011 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था।

News Updated By: Nav Bharat Times

UPTET Bumper Recruitment 152000 Teachers Recruitment in July 2012

जुलाई में भरे जाएंगे शिक्षकों के पद!

कोई तकनीकी अड़चन न आई तो पूरे तीन बरस बाद जुलाई में बेसिक शिक्षा विभाग को एक लाख 52 हजार नए शिक्षक मिल जाएंगे

रिक्त पड़े पदों पर भर्ती के लिए जो प्रस्ताव है, उसके मुताबिक जून के अंत तक आवेदन जमा किए जाएंगे और जुलाई में काउंसलिंग होगी। विभाग ने इसके लिए बेसिक तैयारी भी कर ली है। सर्व शिक्षा अभियान ने जिलेवार रिक्तियों का ब्योरा तैयार किया है, साथ ही यह भी कि शिक्षकों की कमी से कितने विद्यालयों में पढ़ाई प्रभावित हुई, कितने स्कूल खुल नहीं सके। विभाग ने रिपोर्ट में टिप्पणी की है कि प्राइमरी स्कूलों में सामान्य तरीके से पढ़ाई के लिए तत्काल एक लाख 52 हजार शिक्षकों की जरूरत है।
रिक्तियों और भर्ती से जुड़ी यह रिपोर्ट मुख्यमंत्री की पहल पर तैयार की गई है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विभाग के साथ हुई पिछली बैठक में रिक्तियों का विस्तृत ब्योरा बनाने के निर्देश दिए थे। मसलन, स्कूलों में बच्चों की संख्या के अनुपात में किन जिलों में कितने शिक्षकों की जरूरत है, तत्काल कितने शिक्षक रखे जाने जरूरी हैं, प्रशिक्षित शिक्षा मित्रों से कितने पद भरे जा सकते हैं। यह भी कि टीईटी सफल अभ्यर्थियों के चयन का आधार क्या हो और भर्ती से जुड़े जो मामले न्यायालय में लंबित हैं, उनकी स्थिति क्या है। रिपोर्ट तैयार करने वाले सर्व शिक्षा अभियान के बड़े अधिकारियों का कहना है कि एक लाख 52 हजार पदों पर भर्ती का जो ब्योरा तैयार किया गया है, उसे सभी विभागीय विवादों से अलग रखने की कोशिश की गई है। नाम न छापने की शर्त पर अधिकारी ने बताया कि निकाय चुनाव के कारण कोई तकनीकी अड़चन न आई तो 20 जुलाई तक शिक्षकों का चयन कर लिया जाएगा।

News Updated By: Amar Ujala

UPTET : Very Good News : Decision / Next Dateon 9th April 2012 to Vacate Stay in Highcourt for Teachers Recruitment in UP

 UPTET : Very Good News : Decision / Next Date on 9th April 2012 to Vacate Stay in Highcourt for Teachers Recruitment in UP

BJP demands probe into all recruitment’s in UP made under BSP:

Alleging large scale anomalies, the Bhartiya Janata Party (BJP) today demanded a high-level probe into all recruitments done during the five-year-regime of the BSP government.

“The manner in which director secondary education was arrested and in which irregularities have come to fore in Teachers Eligibility Test raises questions over recruitments done in the BSP regime,” BJP spokesman Vijay Bahadur Pathak told reporters here.

“After irregularities have been detected in TET, a high-level inquiry would be done in this and all other recruitments done during the BSP regime,” he added.

Pathak alleged that the manner in which a top official himself was involved in the racket raised questions over sanctity of the entire TET examination.

He alleged that prior to this questions were raised over recruitment of sanitation workers across the state.

“Only a high-level inquiry by an independent agency like CBI will be able expose the racket and when BJP comes to power a thorough probe would be odered,” the party spokesman said.

UP Secondary Education Director Sanjay Mohan was on Tuesday arrested for allegedly taking money from candidates, who appeared for Teachers Eligibility Test held last November.

He allegedly was involved in the racket allegedly used to charge between Rs two lakh and Rs five lakh from candidates to get their names included in the merit list, the ADGP said.

The state government had conducted the TET examination on November 13 last year in which over 11.53 lakh candidates took part and its result was declared on November 26.

Some candidates also filed petitions in the Allahabad High Court relating to some questions in the TET paper.

Join Union Bank Of India : Probationary Officer Recruitment for more information please visit : http://www.unionbankofindia.co.in 

- http://www.sbi.co.in

DMRC Job Opening : Delhi Metro Railway Corporation Job Openings.

For More Information Please Visit : http://www.delhimetrorail.com

Common Written Examination [CWE] For Recruitment Of Specialist Officers In 19 Public Sector Banks Of India :  Times Of India News (Ascent) publish.

For More Information Please Visit : http://www.ibps.in, http://www.bankofindia.co.in

Updated News UPTET (Uttar Pradesh Teacher  Eligibility Test ) Result – All Candidates Result in TET is revised : 

Almost all candidates marks affected with new revised UPTET 2011-12  result displayed on uptet2011.com

Many candidates see increasement in marks.

Please give your openion/result update. Are you satisfied with this result OR not ? If satisfied no issue otherwise give your response?

Highcourt said -
If a candidate has already been declared successful on the basis of answers to respective questions in which options have now have been altered by the Board, and, on the basis of awarding of such marks he has been declared successful it would be unjust to declare him unsuccessful now if due to deduction of marks of such questions, the total marks secured by him earlier become lower than the prescribed pass marks. In my view the revised opinion of the Board in respect of such questions should not affect the result of candidates who have already been declared successful and they should remain untouched.

To see result for PRT test in TET – Click here
To see result for Upper Primary Teacher in TET - Clickhere

Latest SEO, SMO, PPC and Content Writing Job Openings Websites In India :

1. http://www.alootechie.com/

2. http://techcrunch.com/

3. http://www.afaqs.com/

Recruitment for Director(Finance & Accounts) 2012 at National Rural Health Mission, Meghalaya :

National Rural Health Mission, Meghalaya offering jobs for Director (finance & accounts)
Eligibility: In the Rank of Deputy Secretary / director to govt of  India
OR
Members belonging to accounts and finance services of Govt. of India i.e Indian Audit and Accounts service, Indian Civil Accounts service, Indian Defense Accounts Service P& T Accounts and Finance Service, India.

UPTET Job Opening News Paper Clips :

Important Link Related to Initial Updates Related to UPTET :

http://realinfo.info/index.php?topic=7391.8

UPTET : UP Government earns a lot of money from TET candidates approx Rs 190crores:

UP Basic Education Department / UP Govt. collected earned multiple times of money , see -
1. Most of candidates applied for both PRIMARY & UPPER PRIMARY LEVEL TEAACHER, it means
they paid Rs. 1000/- for exam.
2. Normally candidates applied/apply  in 5 distrcits , it means candidates pay/paid Rs. 2500/- again.
3. If new announcement arrives in such a way that candidates can apply in any districts of UP and not restrcied to 5 districts, and if for each distrci they have to pay Rs. 500 then goverment will get a huge collection, but this is taken from UNEMPLOYED persons.

Government earns fortune from TETALLAHABAD: The recent high court directive on the Teachers Eligibility Test (TET) is likely to open several options for the aspirants as far as posting is concerned. The high court has lifted the bar of five districts which a candidate had to give while applying for the said test. Further, it has quashed the advertisement for applying in five districts only.
Since the secondary board is yet to frame new guidelines and issue a new advertisement, it is still not clear how far it will benefit the about 2.75 lakh aspirants who have cleared this year’s Teachers Eligibility Test (TET).
But TET has filled the coffers of the state government, particularly the education department. Through the entire process of selection, the government has earned about Rs 190 crore in terms of fee.
The examination was held on November 13 last at 1,150 centres across the state. About 11 lakh candidates appeared in the examination. Candidates who applied for a teaching job in the primary section were required to pay Rs 500 while an additional fee of Rs 500 was charged from those who also applied in the secondary section.
As per information, nearly all the candidates applied for both the sections which means every candidate paid Rs 1,000 as fee. Since 11 lakh candidates applied, the state government earned amount when multiplied comes to a whopping Rs 110 crore.
Out of these 11 lakh candidates, 2.75 lakh were selected through the exam. They are eligible to apply for a teaching job in both the sections.
The successful candidates were asked to deposit a fee of Rs 500 for each district in which they were applying. This entailed an additional expenditure of about Rs 3000 on each candidate in the light of the fact that after calculation of exchange rate on each draft combined with the speed post charges the amount came to around Rs 600 for each district

News : This one news come from TOI.

Breaking News : As per some sources – Allahabad Highcourt stay on UPTET selection process and news comes obligation to apply in 5 districts ended this update comes 12th Dec 2011.

इलाहबाद हाई कोर्ट ने उत्तर प्रदेश में 72000 प्राथमिक शिक्षको की होने वाली भर्ती प्रक्रिया पर रोक लगा दी है| अदालत में भर्ती विज्ञापन 5 जिलों से आवेदन करने के मामले में याचिका दायर हुई थी| याची का कहना था की या तो आवेदन गृह जनपद में माँगा जाए या फिर पूरे प्रदेश में कहीं भी आवेदन की छूट हो|
न्यायमूर्ति सुधीर अग्रवाल की अदालत में गत 9 दिसम्बर को सरिता शुक्ल व अन्य ने याचिका दायर की थी| याचिका में कहा गया है कि टीईटी फार्म के उस प्रावधान को चुनौती दी गई है। इसमें अभ्यर्थियों के लिए केवल पांच जिलों से फार्म भर सकते हैं। यह मांग की गई कि अभ्यर्थियों को प्रदेश के समस्त जिलों से या गृह जनपद से फार्म भरने की अनुमति दी जाए। अदालत ने 9 दिसम्बर को राज्य सरकार से जबाब माँगा था

Goverment to Appoint 72,825 Teachers in UP:

In a historical decision, the state government has decided to appoint 72,825 teachers in primary schools. The appointment of these teachers will start soon.

For More Information Please visit and Download Forms : http://www.upbasiceducationboard.in/

UP TET 2011 Advertisement chalanged, Allahabad Highcourt Questioning with State Government- Uttar Pradesh :

टीईटी परीक्षा विज्ञापन को चुनौती, राज्य सरकार से जवाब तलब (UPTET Advertisement chalanged, Allahabad Highcourt Questioning with State Government- Uttar Pradesh)

इलाहाबाद : इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शिक्षक पात्रता परीक्षा 2011 के विज्ञापन को चुनौती देने वाली याचिका पर राज्य सरकार व अन्य से जवाब मांगा है।
यह आदेश न्यायमूर्ति सुधीर अग्रवाल ने सरिता शुक्ल व अन्य की याचिका पर दिया है। याचिका में कहा गया है कि टीईटी फार्म के उस प्रावधान को चुनौती दी गई है। इसमें अभ्यर्थियों के लिए केवल पांच जिलों से फार्म भर सकते हैं। यह मांग की गई कि अभ्यर्थियों को प्रदेश के समस्त जिलों से या गृह जनपद से फार्म भरने की अनुमति दी जाए।

3761 TGT Post Delhi Last Date : 16-December-2011 :

Engagement of 3761 Teachers (TGT) on contract basis in SSA Delhi.

Applications are invited for engagement of 3761 Teachers (TGT)  in different subjects under SSA in UEE Mission. The appointment will be purely on temporary and contractual basis on a fixed monthly remuneration of rupees 15000/ -.
Age:
1. 30 Years for male candidates and 40 years in case of female candidates ( On Closing date of application)
2. Age relaxation of 5 years for SC/ST and 3 years for OBC

How to Apply : Apply Online on or before 16/12/2011

Upcoming Bank recruitment exams in India 2011-2012 :

Here you will find all Upcoming Bank exams 2011-2012 alerts precious to those who want Bank jobs.

Bank Recruitment exams for PO-Clerk are not tough to crack but require continous Updation as the recruitment process in Banks is continuously Increasing over recent past. As many more vacancies are expected to be Announced in next years.

Bank Post & Vacancies Last date for applying Written Test date
(tentative)
Extended date for IT Officers in Central Bank of India Specialist Officers Recruitment 2011 70 IT Officers Dec 3, 2011 Jan 8, 2012
Chhattisgarh Gramin Bank Officers and Assistants Recruitment 2011 63 Officers and 94 office assistants Dec 14, 2011 [Officers] – 22.1.2012 [Assistants] – 15.1.2012
Vijaya Bank Specialist Officers Recruitment 2011 819 Experienced Specialist Officers Dec 14, 2011 Selection through Interview Only (To be dated later)
Rajasthan Gramin Bank Officers and Assistants Recruitment 2011 44 Officers and 66 office assistants Dec 15, 2011 [Officers] – 22-01-2012 [Assistants] – 29.1.2012
Syndicate Bank 1000 Agricultural Assistants (Clerical Cadre) Recruitment 2011 1000 Agricultural Assistants (Clerical Cadre) Dec 15, 2011 22.01.2012
Rewa Sidhi Gramin Bank Officers and Assistants Recruitment 2011 28 Officers and 80 office assistants Dec 21, 2011 [Officers] – 05-02-2012 [Assistants] – 29.1.2012
Uttaranchal Gramin Bank Officer and Assistants Recruitment 2011 26 Officers and 53 office assistants Dec 1 to Dec 30, 2011 [Officer – 19.2.2012] [Assistant –19.2.2012]
Jharkhand Gramin Bank Officer and Assistants Recruitment 2011 87 Officers and 119 office assistants From Dec 8, 2011 to Jan 7, 2012 [Officers] – 19.02.2012 [Assistants] – 04.03.2012

CTET Application Form, Entrance Exam Dates, CTET 2012 :

Central Board of Secondary Education( CBSE ) invites online application for Central Teacher Eligibility Test ( CTET 2012 ) which shall be held on 29.01.2012.The rationale for including the TET as a minimum qualification for a person to be eligible for appointment as a teacher.

CTET – JAN 2012 Last date to apply is 25.11 .2011.

The candidates should supply all the required details while filling up the online form on CTET official website during 01.11.2011 to 25.11 .2011.
www.ctet.nic.in

Important Date

  • Application can be submitted Online during 01.11.2011 to 25.11 .2011.
  • DD should reach on / before by 30.11.2011
  • Written exam on 29.01.2012


Sleeplessness

UPTET : राष्ट्रपति ने मुख्यमंत्री के सचिव से मांगा जवाब

औरैया : दो बार आवेदन करने के बावजूद टीचर बनने को तीन साल से भटक रहे टीईटी पास बीएड अभ्यर्थियों ने प्रत्यावेदन भेजकर राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की अनुमति मांगी थी। इस मामले में राष्ट्रपति ने मुख्यमंत्री के सचिव से जवाब मांगा है।

प्रथम बैच में टीईटी उत्तीर्ण करने वाले कई अभ्यर्थियों ने कुछ दिन पहले राष्ट्रपति को प्रत्यावेदन भेजा था। उनका कहना था कि दो बार शिक्षकों की भर्ती निकाली गई और उन सबने आवेदन किए। पहली बार रोक लगा दी गई थी और दूसरी बार भी मामला हाईकोर्ट में पहुंच गया। अभ्यर्थियों का आरोप यह है कि प्रदेश सरकार प्रभावी पैरवी नहीं कर रही है इससे सालों से मामला लटका है।

NewsSource: Jagran

Comments
  1. Akhir kab tak vacancy fill hogi…

  2. Omkar singh says:

    Date kab khatm hogi

  3. bhuvnesh kumar says:

    When wil came decission 72825 vacancies.

  4. plese hicourt quick decission 72825

  5. dinesh choudhary says:

    DEAR BED/TET CAND.SUNO. sarkaar se hit ya janhit ki ummid karna apni umar ganvana hai ,apne bhavisya ki khud socho . sarkaaron ko auron ke hit ke liye sochane ka samay nahin hai.
    DHANYAVAD…………….D.Choudhary.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s